Loading...

कमलनाथ ने व्यापम मास्टरमाइंड के साथ मंच शेयर किया, दिग्विजय सिंह और जीतू पटवारी भी साथ थे | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के शहर इंदौर से मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके शुभचिंतकों का संडे खराब करने वाली खबर आ रही है। इंदौर से एक फोटो आया है। इस फोटो में मुख्यमंत्री कमलनाथ व्यापम घोटाले के मास्टरमाइंड जगदीश सगर (काला चश्मा) के साथ मंच पर नजर आ रहे हैं। मीडिया ने जब घोटालेबाज जगदीश सगर को पहचाना और कैमरों में कैद करना शुरू किया तो जगदीश सगर मंच से खिसक गया। 

दिग्विजय सिंह और जीतू पटवारी भी मौजूद थे व्यापम मास्टरमाइंड के साथ 

यह फोटो इंदौर के डेली कॉलेज स्कूल का है। जिस समय मंच पर व्यापम घोटाले का मास्टरमाइंड जगदीश सगर मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ था उस समय व्यापम घोटाले के लिए सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लड़ने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी भी मौजूद थे। इन दोनों की उपस्थिति के बाद कांग्रेस के पास यह कहने की गुंजाइश नहीं रही कि उन्हें मालूम नहीं था मंच पर खड़ा व्यक्ति कौन है। 

कांग्रेस शर्मसार: व्यापम घोटाले को सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया था

शनिवार का दिन मध्यप्रदेश में कांग्रेस को शर्मसार करने वाला दिन रहा। कांग्रेस ने व्यापम घोटाले को सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया था। व्यापम की लड़ाई की शुरुआत कांग्रेस ने नहीं की थी लेकिन जब हालात तनावपूर्ण हुए दिग्विजय सिंह नहीं व्यापम घोटाले के विसलब्लोअर्स को संरक्षण दिया था। दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, विवेक तंखा और ऐसे ही दवा दिग्गज नेता लामबंद होकर व्यापम घोटाले के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे बल्कि कोर्ट कचहरी में भी याचिकाएं दाखिल कर रहे थे। उस समय मान लिया गया था कि कम से कम इस मामले में कांग्रेस एक राय है। व्यापम घोटाले पर कांग्रेस सरकार कोई समझौता नहीं करेगी क्योंकि यह कांग्रेस ही नहीं दिग्विजय सिंह, विवेक तंखा, कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए प्रतिष्ठा का विषय है।