Hyundai Creta: दावा था कोई चुरा नहीं पाएगा, 10वें महीने में चोरी हो गई | INDORE NEWS
       
        Loading...    
   

Hyundai Creta: दावा था कोई चुरा नहीं पाएगा, 10वें महीने में चोरी हो गई | INDORE NEWS

इंदौर। Hyundai Creta के टॉप मॉडल में मौजूद सिक्योरिटी फीचर पर दाग लग गया है। कार खरीदते समय डीलर ने दावा किया था कि इसका सिक्योरिटी फीचर ऐसा है जिसे कोई चुरा नहीं पाएगा लेकिन दसवें महीने में कार चोरी हो गई। ग्राहक ने इस कार को केवल इसीलिए खरीदा था ताकि कोई चुरा ना पाए। अब ग्राहक यहां-वहां कभी चोरों की तलाश में कभी पुलिस के पास भटक रहा है।

brezza से आए और Hyundai Creta चुरा ले गए

विजय नगर पुलिस के अनुसार, कंस्ट्रक्शन कारोबारी देवकुमार पिता भंवरलाल के घर के बाहर खड़ी क्रेटा कार (एमपी09-डब्ल्यूबी-0051) चोरी हो गई। उन्होंने अगले दिन मोहल्ले के कैमरे खंगाले तो देखा कि बदमाश एक ब्रेजा कार से आए थे। दो बदमाश उतरे और कारोबारी की कार में बैठ गए। 15 मिनट बाद बदमाशों ने कारोबारी की कार स्टार्ट की और लेकर चले गए।

पुलिस ने कहा: छानबीन के लिए अभी वक्त नहीं है

कारोबारी ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और साथ चलने को कहा। पुलिसकर्मी बोले कि अभी वक्त नहीं है। कारोबारी ने खुद खोजबीन शुरू की ताे पता चला कि कार पहले बापट चौराहा पहुंची। वहां से बदमाश वीणा नगर ले गए। फिर क्रेटा की नंबर प्लेट बदलकर दिल्ली की सीरीज वाली नंबर प्लेट लगा दी।

पुलिस से पहले पीड़ित ने सबूत जुटा लिए

बदमाश उज्जैन टोल प्लाजा होते हुए लापता हो गए। काराेबारी ने रतलाम तक के टोल प्लाजा के कैमराें के फुटेज देखे, लेकिन उज्जैन के बाद उसका पता नहीं चला। दो दिन बाद काराेबारी थाने पहुंचे तो पुलिसकर्मी ने कहा कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज के लिए अप्लाय किया है। इस पर कारोबारी ने फुटेज रख दिए और कहा कि आपसे ज्यादा पड़ताल तो उसने कर ली है। 

सबूत मिलने के बाद भी पुलिस ने साथ जाने से मना कर दिया

कंस्ट्रक्शन कारोबारी ने बताया कि तीन टोल नाकों पर उसकी कार को ब्रेजा कार ने पार करवाया। उस ब्रेजा की नंबर प्लेट से पता चला कि वह सनावदिया गांव में एक व्यक्ति के नाम पर है। उसने पुलिसकर्मियों को सनावदिया चलने को कहा, लेकिन थाने से कहा गया कि वे सिर्फ कार से जाएंगे। इसलिए उसके साथ कोई नहीं गया। 

यूट्यूब पर सिखाया गया है क्रेटा कार कैसे चोरी करें

कारोबारी का कहना है कि उसने यू ट्यूब पर क्रेटा थैप्ट लिखा तो उसे चोरी की पूरी प्रक्रिया दिखी। उसमें बताया कि कार के पिछले गेट पर एक क्यूआर कोड रहता है। उसे स्कैन करेंगे तो कार की डिटेल जैसे चेचिस, मॉडल और चाबी का नंबर आ जाता है। फिर एक इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस सेे उस कार की दूसरी चाबी बनाई जा सकती है। उसे शंका है कि बदमाशों ने पहले कभी उसकी कार का क्यूआर कोड स्कैन कर लिया होगा। इसलिए बिना किसी परेशाने वे कार स्टार्ट कर ले गए। 

और बेचने वाला डीलर भी संदेह के दायरे में

कारोबारी का आरोप है कि उसने कार खरीदी थी तब शोरूम वालाें ने उसके फीचर बताए थे। कहा था कि यह कार खास सिक्युरिटी फीचर वाली है। किसी के पास दोनोें चाबियां हों तो कार चोरी नहीं हाे सकती। इस पर कारोबारी ने टॉप मॉडल की कार खरीदी थी। कारोबारी को शंका है एक महीने पहले उनकी कार का एक्सीडेंट हुआ था, जिसे सुधरने दी थी। हो सकता है कि तब शो रूम से किसी ने उसका सिक्युरिटी फीचर ब्रेक कर अब कार चाेरी कर ली।