DAVV में वरिष्ठ प्राध्यापक पर महिला प्राध्यापक से प्रताड़ना का आरोप | INDORE NEWS
       
        Loading...    
   

DAVV में वरिष्ठ प्राध्यापक पर महिला प्राध्यापक से प्रताड़ना का आरोप | INDORE NEWS

इंदौर। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की महिला प्राध्यापक ने विश्वविद्यालय के ही वरिष्ठ प्राध्यापक पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए सोमवार को कुलपति डॉ. रेणु जैन से लिखित शिकायत की है। सप्ताह भर पहले भी दोनों प्राध्यापक के बीच जमकर तीखी बहस हुई थी। उधर कुलपति ने मामले की जांच विश्वविद्यालय की एक समिति को सौंपी है।

प्रंबधन विषय की महिला प्राध्यापक ने अर्थशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. पीएन मिश्रा को लेकर शिकायत की है। महिला प्राध्यापक ने कुलपति डॉ. रेणु जैन को 3 पेज का शिकायती पत्र लिखकर पूरा घटनाक्रम बताया है। सूत्रों के अनुसार महिला प्राध्यापक ने शिकायत में कुछ साल पुरानी बातों का जिक्र भी किया है। उस दौरान डॉ. मिश्र प्रंबधन विभाग में पदस्थ थे। तब से वे प्रताड़ित करते आ रहे हैं। सप्ताहभर पहले एक विभाग में सभी विभागाध्यक्षों की बैठक बुलाई गई थी। वहां दोनों के बीच काफी कहासुनी हुई। इसमें एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप भी लगाए गए। यह जानकारी कुलपति डॉ. रेणु जैन को भी मिली।

अगले ही दिन कुलपति ने दोबारा उस विभाग में दोनों प्राध्यापकों के बीच सुलह कराने के प्रयास किए लेकिन बात नहीं बन पाई। तब महिला प्राध्यापक ने विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों से घटनाक्रम के बारे में मौखिक शिकायत की। सोमवार को लिखित शिकायत होने के बाद कुलपति ने मामले की जांच एक समिति को सौंप दी है। प्रभारी कुलसचिव अनिल शर्मा का कहना है कि गोपनीय शिकायत की गई है। पूरे मामले को कुलपति अपने स्तर पर जांच करवा रही हैं।

बाकी फैकल्टी से ली जानकारी

महिला प्राध्यापक से जुड़ा मामला होने से विश्वविद्यालय काफी गोपनीय तरीके से जांच कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक मौखिक शिकायत होने के बाद कुलपति ने कई महिला फैकल्टी से संपर्क किया। बताया जाता है कि उन्होंने डॉ. मिश्रा के बारे में महिला फैकल्टी की राय व जानकारी हासिल की।

प्रताड़ना का नहीं पता आधार

लिखित शिकायत की सामग्री के बारे में कोई जानकारी नहीं है और न ही प्रताड़ना की शिकायत किस आधार पर की गई है, इस बारे में मुझे जानकारी है। वैसे महिलाओं को लेकर मेरे मन में हमेशा सम्मान रहता है। शिकायत में कुछ भी असत्य तथ्य पाया जाता है तो मैं वैधानिक कार्रवाई करूंगा।
-डॉ. पीएन मिश्रा, विभागाध्यक्ष, अर्थशास्त्र विभाग