Loading...

CAA-NRC लोगों को तोड़ने वाला कानून है, मध्य प्रदेश में लागू नहीं करेंगे: मुख्यमंत्री कमलनाथ | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज एलान कर दिया कि मध्यप्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी यानी नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन लागू नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस कानून के खिलाफ कांग्रेस पार्टी अपना विरोध जारी रहेगी क्योंकि यह लड़ाई संविधान की रक्षा की लड़ाई है। बता दें कि आज बुधवार दिनांक 25 दिसंबर 2019 को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शांति मार्च का आयोजन किया गया था। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ सभा को संबोधित कर रहे थे।

संविधान की रक्षा के लिए इस कानून का विरोध रहेगा


मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने बुधवार को ऐलान किया नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Act) और एनआरसी (NRC) को प्रदेश में लागू नहीं किया जाएगा. भोपाल में कांग्रेस (Congress) के CAA के खिलाफ सबड़े बड़े आयोजन के दौरान सीएम ने साफ किया कि देश के संविधान की रक्षा के लिए कांग्रेस पार्टी इस कानून का विरोध जारी रखेगी। इस कानून को लेकर एमपी की कांग्रेस सरकार (Kamalnath Government) और आम लोग बुधवार को सड़कों पर उतरे। 

हम रिश्ते जोड़ते हैं दिलों को जोड़ते हैं, या कानून लोगों को तोड़ता है


CAA और NRC के विरोध में कांग्रेस के 'संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा' में हजारों लोगों ने पैदल मार्च कर विरोध दर्ज कराया। सीएम कमलनाथ ने कांग्रेस की शांति यात्रा में एलान किया कि किसी भी सूरत में इस कानून को प्रदेश में लागू नहीं किया जाएगा। गांधी टोपी पहने और हाथों में तिरंगा लिए कांग्रेसियों ने CAA लागू किए जाने के विरोध में जमकर नारेबाजी की। सीएम कमलनाथ ने बीजेपी पर जनता को गुमराह करने की राजनीति करने का आरोप लगाया। सीएम ने साफ कहा है कि कांग्रेस का शांति मार्च प्रदेश के लिए नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए है। उन्होंने कहा कि रैली के जरिए देश के दिल से यह बताना चाहते हैं कि किस तरह केंद्र सरकार देश को तोड़ना चाह रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हम भारत के संविधान और संस्कृति का सम्मान करते हुए इस कानून का पालन नहीं करेंगे। देश आज कठिन दौर से गुजर रहा है और संविधान की रक्षा के लिए इस कानून का विरोध हो रहा है। 

हम सब अनपढ़ नहीं हैं, हम बीजेपी की नीयत समझते हैं

सीएम ने बीजेपी के ऊपर जनता का ध्यान हटाने का अभियान चलाने का आरोप भी लगाया। उन्होंने बीजेपी के उन आरोपों का भी जवाब दिया, जिसमें भाजपा नेताओं ने कांग्रेसियों के कानून को नहीं पढ़ने का बात कही है। सीएम ने कहा है कि हम सब अनपढ़ नहीं हैं। हम बीजेपी की नीयत समझते हैं। सवाल ये है कि इसका क्या उपयोग होगा और दुरुपयोग होगा। इस तरह का कानून लाना लोगों को अपने होने का सुबूत देना होगा। यह जनता को गुमराह करने की कोशिश है। इस मौके पर गृह मंत्री ने कहा है कि एनआरसी पूरे देश में लागू होगा। कांग्रेस का पैदल मार्च मिंटो हॉल में गांधी प्रतिमा पर खत्म हुआ।