शिक्षकों पर नजर रखने राजस्व विभाग के 248 अधिकारी तैनात

भोपाल। नीमच जिले में श्रीमान अपर कलेक्टर द्वारा 10 दिसंबर के आदेश से दिनांक 12 व 13 दिसंबर को होने वाले प्रतिभा पर्व अर्धवार्षिक मूल्याकंन के लिए विद्यालयों में राजस्व व पंचायत विभाग से 248 तहसीलदार, पटवारी व पंचायत सचिव को आब्जर्वर्स नियुक्त किया है। 

मप्र तृतीय वर्ग शास कर्म संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष व जिला शाखा नीमच के अध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार ने कहा है कि उक्त नियुक्तियों से संपूर्ण शिक्षा विभाग पर अनुचित संदेह व दबाव से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की अपेक्षा बेमानी है। शिक्षा विभाग में संकुल से लेकर राज्य स्तर तक हजारों अधिकारियों को शिक्षा-परीक्षा के निरीक्षण के लिए तैनात किया जाता रहा है। इस बार राजस्व व पंचायत विभाग से आब्जर्वर्स की नियुक्त से शिक्षा विभाग में गहरी नाराजगी व आक्रोश व्याप्त हैं। यह विभागीय ताना-बाना छिन्न-भिन्न कर देगा। केवल शिक्षालयों में आब्जर्वर्स नियुक्ति करना एकतरफा तानाशाहीपूर्ण होकर अविश्वास के भाव से इंकार नहीं किया जा सकता है। 

कर्मचारी नेता लक्षकार ने प्रशासन को खुली चुनौती दी है कि हिम्मत करके सभी विभागों में एक साथ क्रास आब्जर्वर्स नियुक्त किये जावे। शिक्षकों को भी अन्य विभागों के साथ कलेक्टोरेट, कमिश्नर कार्यालय व सचिवालय के आब्जर्वर्स नियुक्त किया जाना चाहिए ताकि जनता के रूके कार्य व फाइलों के निराकरण में पंख लग जाएंगे साथ ही भ्रष्टाचार जड़ से खत्म हो जाएगा। या तो ये आदेश वापस लिया जावे या सभी विभागों में क्रास आब्जर्वर्स नियुक्त किये जावे, नहीं तो आने वाले समय में शिक्षकों को सड़कों पर उतरना पड़ेगा व सौहार्द्र वातावरण प्रभावित होगा उसके लिए प्रशासन सीधे-सीधे जवाबदेह होगा।