Loading...

SAGAR में आरक्षक ने सरेआम खुद को आग लगा ली

भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिले के मकरोनिया पुलिस थाना क्षेत्र में आरक्षक राजेश राठौर द्वारा केरोसीन डाल कर खुदकुशी करने की कोशिश का मामला सामने आया है। हालांकि पुलिस की तत्परता के कारण नुकसान होने से बच गया। वह मेडिकल के बिलों का भुगतान ना होने से परेशान चल रहा था। जबकि पुलिस के मुताबिक आरक्षक राजेश राठौर फिलहाल सुरक्षित है।

सागर सीएसीपी ने कही ये बात

सागर सीएसपी राजेश व्यास का कहना है कि आरक्षक राजेश राठौर फिलहाल सुरक्षित है। मकरोनिया क्षेत्र में चौराहे पर खुद को आग लगाने की कोशिश कर रहे थे। सड़क पर बड़ी संख्या में भीड़ जमा थी। कंट्रोल रूम में सीसीटीवी कैमरों के जरिए जब इस घटना का पता चला तो तुरंत ही कंट्रोल रूप में मकरोनिया क्षेत्र में तैनात ट्रैफिक पुलिस को वायरलेस के जरिए घटना की सूचना दी गई। घटना की सूचना मिलते ही तुरंत ही आरक्षक को आग लगाने से बचा लिया गया। इसके बाद आरक्षक को मकरोनिया थाने लाया गया है।

घर से छतरपुर जाने की बात कह कर निकला था आरक्षक

सागर सीएसपी राजेश व्यास का कहना है कि आरक्षक छतरपुर जिले में पदस्थ है। घर से छतरपुर जाने का कह कर ही निकला था। जबकि छतरपुर ना जाकर आरक्षक राजेश राठौर ने मकरोनिया चौराहे पर जले हुए ऑयल से खुद को आग के हवाले करने की कोशिश की। हालांकि आरक्षक को बचा लिया गया है। आरक्षक राजेश राठौर से लगातार बातचीत की जा रही है, जिसमें मेडिकल का बिल का भुगतान ना होने से वो परेशान होने की बात बता रहा है। इस पूरे मामले में छतरपुर जिला से सारी जानकारी जुटाई जा रही है।

आरक्षक पहले भी कर चुका है कोशिश

सागर सीएसपी राजेश राठौर के मुताबिक ऐसा पता चला है कि आरक्षक पहले भी इस तरह की कोशिश कर चुका है। सिविल लाइन थाना क्षेत्र में इस तरह का कदम पहले भी उठा चुका है, लेकिन उस समय क्या कारण थे, यह पता नहीं। अब तक उसके मेडिकल बिलों का भुगतान क्यों नहीं हुआ है या फिर आग लगाने के पीछे और कोई कारण है। इन सबका पता लगाया जा रहा है।