Loading...

बैतूल के बाद डिंडोरी में भी सरकारी भवन पर प्राइवेट सरस्वती शिशु मंदिर का कब्जा | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के बैतूल में सरकारी स्कूल भवन में प्राइवेट सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के संचालन की खबर के बाद इसी तरह का एक और मामला सामने आया है। डिंडोरी जिले में भी एक सरकारी भवन पर कब्जा करके सरस्वती शिशु मंदिर का संचालन किया जा रहा है। इसका खुलासा 2016 में पत्रकार श्री Pappu Padwar ने कर दिया था परंतु प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की। 

खबर मिली है कि ग्राम पंचायत कोकोमटा में सरकारी भवन कब्जा किया गया है। पाँच लाख की लागत से बनाए गये राशन दुकान भवन में कब्जा कर सरस्वती शिशु मंदिर का संचालन किया जा रहा है। नया भवन होने के बावजूद सेल्समैन राशन दुकान एक पुराने जर्जर भवन में चला रहा है। बताया गया कि इस भवन का निर्माण ग्राम पंचायत के माध्यम से कराया गया था। सूत्रों का कहना है कि ग्राम पंचायत में सरकारी बजट से बने इस भवन को सरस्वती शिशु मंदिर के सुपुर्द कर दिया। 

ग्रामीणों ने सरकारी भवन में चल रहे प्राइवेट सरस्वती शिशु मंदिर के संचालक का नाम कैलाश सिंह राजपूत बताया है। ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने इस अवैध कब्जे की शिकायत कलेक्टर तक से की थी परंतु कभी कोई कार्यवाही नहीं हुई। ग्रामीण चाहते थे कि इस भवन में राशन की दुकान के अलावा आंगनवाड़ी का भी संचालन किया जाए। क्योंकि गांव में आंगनवाड़ी के लिए पर्याप्त भवन नहीं है।