Loading...

CM से कलेक्टर तक सब पैसा मांगते हैं, वीडियो वायरल : डॉ. गोपाल | MP NEWS

झाबुआ। पेटलावद में पदस्थ डॉ. गोपाल चोयल (Dr. Gopal Choyal) का एक वीडियो वायरल (Video viral) होने से प्रशासनिक हलके में हलचल मच गई। स्वास्थ्य विभाग के अफसर जांच के लिए पेटलावद पहुंच गए। वीडियो तीन महीने पुराना बताया जा रहा है। इसमें डॉ. गोपाल चोयल कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री से लेकर कलेक्टर भी पैसा लेते हैं। मामले की शिकायत भाजपा नेता और झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी रहे भानू भूरिया (BJP candidate Bhanu Bhuria) ने कलेक्टर से की। इसके बाद सीएमएचओ डॉ. बीएस बारिया को जांच के लिए पेटलावद भेजा गया। डॉ. गोपाल चोयल का कहना है, शिकायतकर्ता ब्लैकमेलर है। पहले वो 15 हजार ले चुका है और पैसों के लिए ब्लैकमेल कर रहा था। 

सारी चीजें बहुत अंडरस्टूड होती है। सारी बातें मैं बताऊंगा तो तुम बोलोगे, ऐसा होता है क्या। हम कह नहीं सकते कि ऐसा होता है। ऐसा नहीं है कि पैसा सिर्फ हम ही लोग लेते हैं। सभी लोग लेते हैं पैसे। मैं बताता हूं, मुख्यमंत्री भी पैसे लेता है, कलेक्टर भी पैसा लेता है। कलेक्टर की तनख्वाह है क्या इतनी जो वो कार चला सकता है। हमारा जो काम है, हमसे भी लाखों रुपए मांगे जाते हैं। सारंगी के पास के गांव उमेदपुरा के कांतिलाल गरवाल (Kantilal Garwal) के परिवार में डिलीवरी 3 महीने पहले हुई थी। डिलीवरी के लिए और पत्नी को डिस्चार्ज करने के लिए पैसे मांगने का आरोप है। इसका वीडियो बनाकर कांतिलाल गरवाल ने सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की थी। इतने समय में भी कार्रवाई नहीं हुई तो उसने वीडियो वायरल कर दिया। इसके बाद जांच शुरू की गई। 

आप एक बार शिकायतकर्ता का बैकग्राउंड पता कीजिए। वो आदतन शिकायतखोर है। उसे पैसा चाहिए। पहले सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की। उसने डिमांड की थी 50 हजार की। मैंने तो इंकार कर दिया, लेकिन एक शुभचिंतक से उसने 15 हजार ले लिए। इसके बाद शिकायत वापस ले ली। वापस उसे पैसे चाहिए थे तो फिर से शिकायत कर दी। हम सीएम हेल्पलाइन वालों को बुलाते हैं। उसे भी बुलाकर समझाया था। अब समझाइश में कई तरह की बातें होती हैं। उसे समझाने के लिए कुछ अलग तरह की बातें कह दी, लेकिन धोखे से वीडियो बना लिया गया। इस वीडियो को लेकर वो ब्लैकमेल कर रहा था। हमने पैसे देने से इंकार किया तो वीडियो वायरल कर दिया। उसे सरकारी योजना का डिलीवरी का पैसा मिल चुका है।

वर्जन 
मामला संज्ञान में आया है। कलेक्टर साहब ने जांच के लिए भेजा है। पेटलावद में ही बयान ले रहे हैं। शिकायतकर्ता भी साथ में है।
डॉ. बीएस बारिया, सीएमएचओ, झाबुआ