Loading...

झाबुआ चुनाव परिणाम: गढ़ में हारी भाजपा तो घर में कांतिलाल भी नहीं जीत पाए | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश की विधानसभा सीट झाबुआ में हुए उपचुनाव के परिणाम सामने आ गए हैं। 27000 से अधिक वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी भानु भूरिया को चुनाव हरा दिया है। इस चुनाव परिणाम में एक खास बात यह रही कि भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले कल्याणपुरा से भारतीय जनता पार्टी को शर्मनाक हार मिली है, लेकिन जीत की खुशी के बीच कांग्रेसी प्रत्याशी के लिए भी शर्म ना किया है कि वह भी अपने घर से जीत नहीं पाए। कांतिलाल भूरिया के वार्ड से भाजपा को जीत मिली।

शुरुआत से ही कांग्रेसी आगे चल रही थी

मतगणना शुरू होते ही कांतिलाल भूरिया ने भानु भूरिया पर बढ़त बना ली थी जो हर राउंड के साथ बढ़ती गयी। 14 वें राउंड तक पहुंचते-पहुंचते साफ हो गया था कि कांग्रेस ये सीट प्रचंड बहुमत से जीतने वाली है। बीजेपी प्रत्याशी भानु भुरिया की आपत्ति के बाद झाबुआ में कुछ देर के लिए मतगणना रोकना पड़ी। भानु भूरिया ने निर्वाचन पदाधिकारी को री काउंटिंग की एप्लीकेशन दी थी। तब तक 21 राउंड पूरे हो चुके थे। आपत्ति खारिज होने के बाद दोबारा मतगणना शुरू की गयी।

भाजपा की सबसे शर्मनाक हार यहां हुई

कांग्रेस ने कल्याणपुरा में भी जीत हासिल की। इसे बीजेपी की अयोध्या कहा जाता है। इस बार चुनाव में इस इलाके में दो अलग-अलग तस्वीरें रहीं। कल्याणपुरा के इस क्षेत्र में संघ की खासी पैठ है। बीजेपी यहां कांग्रेस को पछाड़ती आई है। हालांकि इस इलाके में ईसाई मिशनरीज़ का खासा प्रभाव है। प्रदेश की राजनीति को हिला देने वाला नन कांड इस क्षेत्र के गोपालपुरा गांव में हुआ था। तभी से क्षेत्र में धर्मांतरण को लेकर विरोध तेज़ होता रहा है। संघ के रास्ते बीजेपी ने यहां अपने पांव मजबूती से जमाए हुए हैं। इस बार चुनाव में इस इलाके में सेंध लगाने के लिए सीएम कमलनाथ ने रोड-शो किया था। खासकर उनकी नज़र ईसाई वोट बैंक पर थी। सीएम ने यहां पहले दौर का प्रचार और रोड-शो बुधवार को किया था। इस दिन कल्याणपुरा में हाट बाजार भी लगता है, ऐसे में कांग्रेस के लिए भीड़ जुटाना और अपनी बात मतदाताओं तक पहुंचाना आसान था। 

अपने बूथ से हारे कांतिलाल

ये भी अजब इत्तेफाक़ है कि कांतिलाल भूरिया अपने ही बूथ से हार गए। मतदान केंद्र क्रमांक 93 में उन्होंने वोट डाला था लेकिन गोपाल कॉलोनी के इस क्षेत्र से भूरिया हार गए। इस बूथ पर उन्हें 175 वोट मिले जबकि बीजेपी के भानु भूरिया को 214 वोट लेकर उनसे आगे रहे। 

पौने दो लाख मतदाताओं ने किया फैसला

झाबुआ विधान सभा क्षेत्र में 2 लाख 77 हजार 500 मतदाता हैं। इनमें से 1लाख 7 2 हजार 144 ने इस बार अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। इस उप चुनाव में कुल 356 मतदान केन्द्र बनाए गए थे। उप चुनाव में 62.01 फीसदी मतदान हुआ था, जो पिछले विधानसभा चुनाव से करीबी 2 फीसदी कम था।