Loading...

KANPUR SMART CITY APP DOWNLOAD करें | ऑफिशियल कानपुर स्मार्ट सिटी मोबाइल ऐप

कानपुर। अतिक्रमण, कचरा, ओवरफ्लो होते गटर, चौक हो गए नाला एवं नालिया, सड़क में गड्ढे या वाटर सप्लाई की समस्या अब सब कुछ आप सिर्फ एक मोबाइल पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। आपकी शिकायत पर न केवल कार्यवाही होगी बल्कि निर्धारित समय में कार्यवाही होगी और आपको सूचित भी किया जाएगा। आपको सिर्फ इतना करना है कि कानपुर के स्मार्ट सिटी मोबाइल अपने मोबाइल में डाउनलोड करना है इसकी डायरेक्ट लिंक नीचे दी गई है।

शुक्रवार दिनांक 26 अक्टूबर 2019 को को महापौर प्रमिला पांडेय ने इस एप को लांच किया। इसके साथ ही ऑनलाइन नामांतरण की भी व्यवस्था नगर निगम ने शुरू कर दी है। समस्याओं से जूझ रहे नागरिकों को इन व्यवस्थाओं से बेहद राहत मिलेगी। शुक्रवार को महापौर ने इंट्रीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सिस्टम (आइसीसीएस) के तहत स्मार्ट सिटी एप और ऑनलाइन म्यूटेशन का शुभारंभ किया। इस मौके पर मंडलायुक्त सुधीर एम बोबडे, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा समेत नगर निगम के अधिकारी मौजूद रहे। महापौर ने कहा कि इस सिस्टम के चालू होने से नागरिकों को बेहद राहत मिलेगी और उन्हें कार्यालय का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा।

संपत्ति के नामांतरण की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू

संपत्ति के नामांतरण की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू होने से पहले लोगों को बेहद समस्या का सामना करना पड़ता था। वारिस के रूप में नामातरण कराने के लिए मकान मालिक को वार्षिक किराया मूल्याकन के हिसाब से शमन और नामातरण शुल्क देना पड़ता था। नए रजिस्ट्री में मकान मालिक को सर्किल रेट के हिसाब से मकान की कीमत का एक फीसद शुल्क देना होता था। यह सारे काम कराने के लिए उन्हें नगर निगम के चक्कर काटने पड़ते थे और यह काम बेहद पेचीदा हो जाता था। अब ऑनलाइन यदि सारी औपचारिकताएं पूरी कर दी जाएंगी तो कोई आपत्ति न होने पर 45 दिन में स्वत: नामांतरण हो जाएगा। ऐसे 

स्मार्ट सिटी एप में शिकायत कैसे करें

प्ले स्टोर में जाकर स्मार्ट सिटी एप को डाउनलोड करें। इसकी डायरेक्ट लिंक नीचे भी दी गई है।
अपना मोबाइल नंबर पंजीकृत कराएं। 
स्मार्ट सिटी के तहत मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ले सकते हैं। 
साथ ही समस्या की शिकायत फोटो खींचकर कर सकतें है। 
निर्धारित समय पर शिकायतों का निस्तारण होगा। 
कानपुर स्मार्ट सिटी मोबाइल एप अभी डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें