Loading...

BHOPAL की नेहा चौकसे ने सुसाइड किया, DGM BHEL सहित कई अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप

भोपाल। भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड की महिला कर्मचारी नेहा चौकसे ने अपने निवास में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। नेहा ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें डीजीएम सहित हैदराबाद और भोपाल के कई कर्मचारी अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। नेहा चौक से भोपाल के कारोबारी तुलसीराम चौक से की बेटी हैं। नेहा की शादी हैदराबाद में रहने वाले सुनील खंडेलवाल के साथ हुई थी। शादी के बाद नेहा ने भोपाल से हैदराबाद ट्रांसफर ले लिया था। 

भेल भोपाल ने कहा: हमारे यहां तो कोई शिकायत नहीं की थी

भोपाल भेल प्रबंधन ने कहा कि नेहा यहां वित्त विभाग में अकाउंट्स ऑफिसर थीं। उन्होंने भेल की आंतरिक महिला कमेटी से लेकर जीएम एचआर तक किसी भी साथी कर्मचारी व अधिकारी द्वारा मानसिक रूप से प्रताड़ित करने की कोई लिखित व मौखिक शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। भेल भोपाल यूनिट के जीएम एचआर एम ईसादोर ने बताया कि जून में नेहा चौकसे ने हैदराबाद भेल यूनिट में तबादला करने का आवेदन किया था। उनका कहना था कि शादी होने के कारण भेल भोपाल में कार्य करने में असमर्थ हैं। 

प्रक्रिया के तहत हैदराबाद भेल यूनिट में स्थानांतरण किया गया था। वे व्यवहार कुशल थीं। न उनकी तरफ से ऐसी कोई शिकायत की गई कि उन्हें कोई मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है। न ही ऐसी किसी ने शिकायत की, कि उन्हें कोई मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है।

डीजीएम फाइनेंस आर्थर किशोर कुमार सहित भोपाल की पांच महिला कर्मचारियों पर प्रताड़ना का आरोप

नेहा चौकसे ने सुसाइड नोट में भेल हैदराबाद के डीजीएम फाइनेंस आर्थर किशोर कुमार सहित अन्य अधिकारियों के अलावा भेल भोपाल में काम के दौरान वित्त विभाग में कार्यरत पांच महिला सहकर्मियों पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। 

नेहा ने अपने एक पत्र में लिखा कि पति के साथ रहने के लिए उसने भोपाल बीचएईएल से हैदराबाद बीएचईएल में ट्रांसफर लिया था। हैदराबाद बीएचईएल में काम करने वाले डीजीएम फाइनेंस आर्थर किशोर कुमार ने उसे पिछले दो महीने में काफी प्रताड़ित किया। आर्थर ने नेहा का फोन भी हैक कर लिया। नेहा ने इस पत्र में आर्थर किशोर कुमार के अलावा मोहनलाल सोनी, तीरथभासी स्वेन, सीताराम पेंटाकोटा और महेश कुमार के नाम भी लिए हैं। ये लोग नेहा पर अश्लील फब्तियां कसते थे। नेहा के पत्र के मुताबिक, आर्थर ने उसे जान से मारने की साजिश रच ली थी।

 नेहा ने सुसाइड नोट में भोपाल बीएचईएल के कर्मियों पर भी प्रताड़ना का आरोप लगाया
नेहा ने अपने सुसाइड नोट मे आरोप लगाया है कि भोपाल बीएचईएल के फाइनेंस डिपार्टमेंट में काम करने वाली नीलिमा, रूचिता, कल्पना, स्वाति और नेहा नाम की महिला ने भी उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया था। हैदराबाद तबादला होने के बाद इन लोगों ने वहां भी बदनाम करने की कोशिश की। नेहा ने पत्र में लिखा है कि आर्थर ने उनके पति और परिवार के अन्य सदस्यों के फोन भी हैक कर लिए थे।

नेहा ने खुद लिया तबादला : पीआरओ राजवंश

भेल भोपाल के पीआरओ संजय राजवंशी ने बताया कि नेहा वित्त विभाग में पदस्थ थीं। करीब डेढ़ साल पहले उनकी शादी हुई थी। उनके पति हैदराबाद में रहते हैं, इसलिए जून में उन्होंने भेल हैदराबाद यूनिट में तबादला ले लिया था। उनकी ज्वाइनिंग भेल झांसी यूनिट की थी। भेल भोपाल यूनिट में कार्य के दौरान उन्होंने कोई शिकायत नहीं की।

पिता तुलसीराम चौक से हैदराबाद रवाना

नेहा चौकसे की खुदकशी का पता चलते ही आनंद नगर में रहने वाले उनके पिता तुलसीराम चौकसे व परिजन हैदराबाद के लिए रवाना हो गए। जानकारी के मुताबिक नेहा का परिवार का संपन्न् है। उनके पिता का कंस्ट्रक्शन का बिजनेस है। एडिशनल एसपी जोन-2 संजय साहू ने बताया कि गुस्र्वार रात तक हैदराबाद पुलिस की तरफ से इस संबंध में कोई पूछताछ नहीं की गई है।