Loading...

ANAND HOSPITAL तथा SAMARTH HOSPITAL का लाइसेंस निरस्त | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। कलेक्टर अनुराग चौधरी के निर्देश पर CMHO डॉ. मृदुल सक्सैना की टीम ने एक सप्ताह में जिन हॉस्पिटलों पर कार्रवाई की थी। उनके नोटिस के जवाब आने के बाद आनंद हॉस्पिटल और समर्थ हॉस्पिटल (Anand Hospital and Samarth Hospital) का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है। इन हॉस्पिटलों को बंद करने के आदेश सोमवार को जारी कर दिए जाएंगे। साथ ही जीवनश्री हॉस्पिटल (Jeevanshree Hospital) का लाइसेंस 15 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया है।

सीएमएचओ डॉ. मृदुल सक्सैना और उनकी टीम द्वारा एंबुलेंस चालकों द्वारा कमीशन के चक्कर में नर्सिंगहोम में छोड़े जा रहे मरीजों के मामले में चल रही कार्रवाई सिर्फ खानापूर्ति साबित हो रही है। पिछले एक माह में जीवनश्री हॉस्पिटल, फेमिली केयर, आनंद हॉस्पिटल, कल्पना हॉस्पिटल, सुविधा हॉस्पिटल, मैक्स केयर हॉस्पिटल, समर्थ हॉस्पिटल, गालव हॉस्पिटल, वेदांश हॉस्पिटल ( Family Care, Anand Hospital, Kalpana Hospital, Suvidha Hospital, Max Care Hospital, Samarth Hospital, Galav Hospital, Vedansh Hospital) सहित 1 दर्जन से अधिक नर्सिंगहोम पर पर एक माह में टीम द्वारा छापामार कार्रवाई की गई थी। इस कार्रवाई में अधिकांश में नर्सिंग छात्र या अनट्रेंड स्टाफ काम करते मिला था। नर्सिंगहोम संचालकों को नोटिस जारी किया गया था। 

नोटिस का जबाव आने के बाद सीएमएचओ ने कुछ के नोटिस के जबाव का आंकलन किया। सीएमएचओ डॉ. मृदुल सक्सैना ने बताया कि गोल पहाड़िया स्थित आनंद हॉस्पिटल और बहोड़ापुर स्थित समर्थ हॉस्पिटल का लाइसेंस निरस्त कर दिया है। जीवनश्री हॉस्पिटल का लाइसेंस 15 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया है। ये आदेश सोमवार को जारी कर दिए जाएंगे। उक्त हॉस्पिटल संचालकों को निर्देश दिए जाएंगे कि उनके यहां जो भी मरीज भर्ती हैं उन्हें सरकारी अस्पताल में शिफ्ट करें। अन्य हॉस्पिटलों के दस्तावेजों की जांच की जा रही है उन पर भी जल्द ही कार्रवाई कर दी जाएगी।