Loading...

CHIT FUND COMPANY के जाल में फंस गए वकील साहब, 44.37 लाख का चूना लगा | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। चिटफंड कंपनियों (Chit fund companies) के पीड़ित जब अपनी शिकायत लेकर पुलिस या वकील के पास जाते हैं तो सबसे पहले पीड़ित को ही प्रवचन सुनाए जाते हैं। जताया जाता है कि उसे सावधान रहना चाहिए था। ज्यादा ब्याज के लालच में नहीं फंसना चाहिए था परंतु यहां एक वकील साहब ही चिटफंड के जाल में फंस गए। कुल 44.37 लाख की चपत लगी है।

थाटीपुर निवासी आलोक कुमार दुबे (Alok Kumar Dubey) पेशे से वकील हैं और प्रायवेट प्रैक्टिस करते हैं। वर्ष 2016 में उन्होंने आदर्श क्रेडिट सोसायटी लिमिटेड में अच्छे ब्याज के लालच में अपने माता-पिता के नाम से 44 लाख 37 हजार रुपए जमा कराए थे, जिसमें कुछ एफडी दो साल तो कुछ तीन और कुछ पांच साल की थी। वर्ष 2018 में जब एफडी (FD) का समय पूरा हुआ तो उन्होंने रुपए वापस के लिए जरूरी कार्रवाई की, लेकिन पैसे उनके खाते में नहीं आए। इसका पता चलते ही उन्होंने पड़ताल की तो पता चला कि कंपनी फर्जी है और उनका पैसा डूब गया। इसका पता चलते ही पुलिस थाने पहुंचे और मामले की शिकायत की। पुलिस ने शिकायत की जांच के बाद कंपनी के डायरेक्टर मुकेश मोदी और राहुल मोदी (Mukesh Modi and Rahul Modi) के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस को पता चला कि कंपनी का मुख्यालय जयपुर में है और कंपनी के कार्यालय सभी शहरों में हैं और कंपनी के खिलाफ जयपुर और अहमदाबाद में मामला दर्ज है। साथ ही पता चला कि कंपनी के डायरेक्टर जयपुर जेल में बंद हैं। कंपनी पर 14000 करोड़ रुपए की ठगी का आरोप है।