Loading...

GWALIOR NEWS: पुलिस आरक्षक को लूटा, वैगनआर में सवार थे लुटेरे

ग्वालियर। भागवत कथा के लिए पैसे लेकर जा रहे पुलिस जवान से वैगनआर कार (WagonR Car) सवार बदमाश पचास हजार रुपए ले उड़े (Looted police constable)। घटना हजीरा थाना क्षेत्र के ट्रिपल आईटीएम कॉलेज (Triple ITM College) के पास की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस ने कार की तलाश में नाकाबंदी  भी कराई, लेकिन कार का सुराग नहीं मिला है। इटावा निवासी नरेन्द्र चतुर्वेदी पुत्र रामनिवास चतुर्वेदी (Narendra Chaturvedi's son Ramnivas Chaturvedi) पुलिस जवान है और मुरैना के महुआ थाने में पदस्थ है।

वह अपने भाई रजनीश शर्मा (Rajneesh Sharma) के पास किसी काम से आया था और यहां पर पता चला कि गांव में पिताजी भागवत करा रहे हैं। इसका पता चलते ही उसने बैंक से पचास हजार रुपए निकाले और बस के इंतजार में गोला का मंदिर चौराहे पर पहुंचा। यहां पर पहुंचकर वह बस का इंतजार कर रहा था कि तभी एक वैगनआर कार स्लेटी कलर की उसके पास आई और उससे पूछा कि उसे कहां जाना है तो उसने मुरैना जाना बताया। इस पर कार सवार ने उसे पचास रुपए में मुरैना छोडने की बात कही। इस पर वह भी सवार हो गया था, क्योंकि कार में पहले से ही चालक सहित पांच अन्य लोग सवार थे। कार जब संजय नगर पुल के पास पहुंची तो एक युवक उतर गया और जैसे ही वह कार से उतरा कार में सवार युवक उसे धक्का देकर भाग निकले। वारदात का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद बदमाशों की तलाश शुरू की, लेकिन बदमाश हाथ नहीं आए।

वारदात का पता चलते ही पुलिस ने शहर में नाकाबंदी कराने के साथ ही बानमोर और मुरैना पुलिस को कार की तलाश शुरू कराई, लेकिन कार व आरोपी पुलिस के हाथ नहीं आए। पीडि़त ने पुलिस को बताया कि सभी आरोपी 25 से 40 वर्ष के बीच के थे और बोलचाल से लोकल लग रहे थे।

त्योहार के आते ही शहर में कार सवार गिरोह सक्रिय हो गया है और लगातार वारदात को अंजाम दे रहा है। इससे पहले महाराजपुरा थाना क्षेत्र में रेलवे वेण्डर को भिण्ड छोडऩे के बहाने स्कार्पियो में बिठाया और फिर इसी तरह उसे धक्का मार कर रुपए लूट ले गए थे। अधिकतर मामलों में पीडि़त दूसरे जिले का होने के कारण मामला दर्ज नहीं कराते हैं और जो शिकायत पर अड़ते हैं, उनसे पुलिस आवेदन लेकर मामला रफा-दफा कर देती है।