Loading...

शिवराज सिंह से पहले भाजपा का आंदोलन घोषित: गुटबाजी | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में भाजपा नेताओं के बीच गुटबाजी अब खुलकर सामने आ चुकी है। शिवराज सिंह चौहान खुद को भाजपा का चेहरा बनाए रखने के लिए सक्रिय हैं तो राकेश सिंह अपने पद का उपयोग करते हुए शिवराज सिंह को पीछे धकेलने में कसर नहीं छोड़ रहे हैं। रविवार को शिवराज सिंह ने 22 सितम्बर को किसान आंदोलन का ऐलान किया था अब राकेश सिंह ने 20 सितम्बर को भाजपा के धरना आंदोलन का ऐलान कर दिया। 

शिवराज सिंह का किसान आंदोलन 22 सितम्बर को

रविवार शाम को पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा था कि अतिवृष्टि के कारण पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है। मंदसौर-मल्हारगढ़ के आसपास के गांवों की बुरी स्थिति है। चारों ओर तबाही का मंजर है। अभी भी कई लोग बाढ़ में फसे हुए हैं। मैंने कल मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा की थी। मैं उनसे निवेदन करता हॅू कि सरकार इस समय प्रदेश में निकले और प्रभावितों को तत्काल सहायता प्रदान करे, क्योंकि किसानों की फसल का कई जगह सर्वे शुरू नहीं हुआ है। अतिवर्षा से फसल बर्बाद नहीं हुई बल्कि किसान की जिंदगी बर्बाद हुई है। 21 सितम्बर तक प्रदेश सरकार किसानों को राहत नहीं देती है तो 22 सितम्बर को किसान के साथ हम एक घंटे के लिए अपनी फसलों को लेकर सड़कों पर उतरेंगे। 

राकेश सिंह ने 2 दिन पहले भाजपा के आंदोलन का ऐलान कर दिया

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने ने सोमवार को शिवराज सिंह के किसान आंदोलन से 2 दिन पहले भाजपा का धरना आंदोलन कार्यक्रम जारी कर दिया। मुद्दा एक ही है। राकेश सिंह ने जारी प्रेस रिलीज में किसानों की इस पीडा के समय प्रदेश सरकार की अनदेखी को लेकर रोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि सरकार के इस लापरवाही पूर्ण रवैये के खिलाफ प्रदेश भर में विधानसभा स्तर पर 20 सितंबर को धरना प्रदर्शन किए जायेंगे।