Loading...

शिवराज सिंह का राकेश सिंह को जवाब: यह वक्त गाली देने का नहीं | MP NEWS

भोपाल। भाजपा में गुटबाजी का सांस्कृतिक आयोजन लगातार जारी है। यह शो पूरे 7 दिन चल रहा है। रविवार को शिवराज सिंह ने सरकार को अल्टीमेटम देते हुए 22 सितम्बर को 'किसान आंदोलन' का ऐलान किया। सोमवार को राकेश सिंह ने भाजपा की तरफ से 20 सितम्बर को आधिकारिक धरना आंदोलन का ऐलान कर दिया। अब शिवराज सिंह ने बयान जारी किया है कि 'यह वक्त गाली देने का नहीं, मिलकर पीड़ितों की मदद करने का है'

राकेश सिंह ने क्या बयान दिया है

सांसद एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने कहा कि उन्होंने हाल ही में मंदसौर, नीमच सहित निमाड़ और मालवा सहित अन्य स्थानों पर बाढ पीड़ित क्षेत्रों का जायजा लिया है। यहां हालात बेकाबू है और फसलें पूरी तरह तबाह हो गयी है। (राकेश सिंह के ट्वीटर अकाउंट पर बाढ़ क्षेत्र में जायजा लेते कोई फोटो या वीडियो नहीं मिला। हां स्वागत कराते हुए एक फोटो जरूर मिला) श्री राकेश सिंह ने कहा है कि प्रदेश का किसान जब विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है तब भी मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार उन्हें राहत देने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है, राहत देना तो दूर बाढ प्रभावित क्षेत्रों में हुए नुकसान का आंकलन करना भी जरूरी नहीं समझा जा रहा है। मुख्यमंत्री की तो छोड़िए मंत्रियों को भी पीडित किसानों की सुध लेने की फुर्सत नहीं है, लेकिन एक जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते भारतीय जनता पार्टी यह सब चुपचाप नहीं देख सकती। इसलिए पार्टी ने 20 सितंबर को सभी विधानसभा क्षेत्रों में धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। 

इसके बाद शिवराज सिंह ने क्या कहा

यह वक्त गाली देने का नहीं है, बल्कि एक साथ मिलकर बाढ़ पीड़ितों की सहायता करने का है, उनका सहयोग करें उनकी मदद करें। श्री चौहान ने कहा कि यह सब क्यों हुआ, क्या हुआ, कैसे हुआ, इसकी राजनीति हम बाद में कर लेंगे। पहली प्राथमिकता जिन लोगों का सब कुछ बाढ़ में बह गया उनकी मदद करना है। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चौहान ने सोमवार को मंदसौर सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। श्री चौहान अतिवर्षा से हुए नुकसान एवं पीड़ित लोगों से मिलने मंदसौर प्रवास पर हैं।

राकेश सिंह ने सोमवार को इंदौर में यह बयान दिया

इंदौर। मध्यप्रदेश में अतिवर्षा को लेकर हालात चिंतनीय है। किसान और जनता परेशान है। लेकिन गूंगी और बहरी सरकार को कोई फर्क नहीं पड रहा है। बीते दिनों भाजपा ने कुंभकरणी नींद में सोई सरकार को जगाने के लिए घंटानाद आंदोलन किया, लेकिन सरकार गहरी नींद में सोई हुई है। उसे जनता के हितों से कोई लेना देना नहीं है। पानी के कारण चारों ओर हाहाकार मचा है। अतिवृष्टि ने किसानों की फसलों को चौपट कर दिया है। ऐसे विकट समय में मुख्यमंत्री तो दूर उनके मंत्री भी जनता के बीच मौजूद नहीं है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने सोमवार को इंदौर में मीडिया से चर्चा करते हुए कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में है, उसे इसका अहसास भी कराना चाहिए।