Loading...

गर्भवती महिला को आशा कार्यकर्ता बहला फुसलाकर निजी नर्सिंग होम | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। मुरैना निवासी एक युवक अपनी पत्नी को डिलेवरी के लिए मुरार प्रसूति गृह में लेकर पहुंचा। जहां से नर्स ने उसे यह कहकर भगा दिया कि हम भर्ती नहीं कर सकते, KRH या प्रायवेट अस्पताल ले जाओ। इसके बाद युवक पत्नी को लेकर गणेश नर्सिंग होम में पहुंचा। जहां पर 24 हजार लेकर सीजर करके डिलेवरी कराई गई। 

स्वास्थ्य विभाग की टीम बुधवार को जब नर्सिंग होम में पहुंची तो प्रसूता के पति ने अपनी व्यथा बताई। टीम को नर्सिंग होम के निरीक्षण के दौरान कमियां मिली है, जिसको लेकर ओटी एवं लेबर रूम को सील कर दिया गया है। CMHO डॉ मृदुल सक्सेना ने गणेश नर्सिंग होम मुरार को नोटिस जारी किया था। इसके बाद टीम को बुधवार को जांच के लिए नर्सिंग होम में भेजा गया था। प्रसूता ने टीम को बताया कि वह ऑटो से यहां तक आई है। इस मामले में आशा कार्यकर्ता सुशीला शर्मा एवं को भी नोटिस जारी किया गया है। क्योंकि मरीज अंजू दीवाकर ने बताया था कि आशा कार्यकर्ता बहलाफुसलाकर उसे निजी नर्सिंग होम में लेकर आई थी। 

इसके बाद टीम लाइफ केयर हॉस्पिटल में पहुंची। जहां पर आईसीयू में पर्दे गंदे एवं दुर्गन्ध आना पाया गया है। जिससे इंफेक्शन फैलने का खतरा हो सकता था। इसके बाद टीम एसआर पैथोलॉजी लैब में पहुंची, यहां पर कोई भी स्टाफ नहीं मिला है। जिसकी वजह से पैथोलॉजी संचालक को नोटिस जारी किया गया है।