Loading...

माँ का हाथ छोड़ते ही मासूम का सिर धड़ से अलग, प्रियंका की दर्दनाक मौत | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। बानमोर से दोपहर दो बजे मासूम प्रियंका (Priyanka Gurjar) अपनी मां सरोज (Saroj Gurjar) के साथ गांव आई थी। शाम 4 बजे घर से 20 से 25 महिलाएं व बच्चे गीत गाते हुए पैदल-पैदल तिघरा के लिए निकले थे। घर से निकलते समय मासूम मां का हाथ पकड़कर गीत गुनगुना रही थी। 

करीब 50 मीटर दूर निकलकर उसने मां का हाथ छोड़ा और अपने परिवार की अन्य बहनों के साथ हो गई। इसी समय मौत बनकर सामने से आई कार को और लोगों ने तो देख लिया पर प्रियंका नहीं देख पाई। कार उसे रोंदते हुए ले गई। जबकि उसकी बहनें यहां वहां भागी और कुछ सीमेंट के पाइप के पीछे तो कुछ अंदर घुस गईं। जबकि मासूम ने अपनी मां, दादा-दादी के सामने दम तोड़ दिया। उसकी मौत इतनी दर्दनाक थी कि किसी से देखी तक नहीं। जब तक कोई समझ पाता उसका सिर गर्दन सहित धड़ से अलग हो गया था। जिस हाथ को उसकी मां कुछ देर पहले तक थामे थी वह कंधे से लटका पड़ा था। यदि भीड़ में कार घुस जाती तो हादसा और भयानक हो सकता था। 

पप्पू गुर्जर (Pappu Gurjar) मूलता सोने राम का पुरा का रहने वाला है। पर वह बच्चों की पढ़ाई और बेहतर भविष्य के लिए बानमोर मुरैना में एक कंपनी में जॉब करता है। वह पत्नी सरोज, बेटों मनोज, रामस्वरूप और इकलौती बेटी प्रियंका के साथ रहता था। मई में छोटे भाई सुरेन्द्र की शादी थी। उसके मोर सिराने के लिए वह आए थे। बुधवार दोपहर 2 बजे पहुंचे थे और 5 बजे तक वापस लौटना था।

हादसे के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों ने जाम लगाने का भी प्रयास किया। पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाल लिया। हादसा बच्ची के घर से महज 50 मीटर की दूरी पर हुआ है। हादसे के समय वहां मौजूद बच्ची के दादा रामकुंअर ने पुलिस ने बताया कि कार वाला कार नहीं चला रहा था। वो तो हवाई उड़ा रहा था। जब बच्ची में टक्कर मारी तो कार की स्पीड़ कम से कम 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे होगी। मेरी बिटिया के परखच्चे से उड़ गए।

पकड़ा गया कार चालक को संजय पुत्र प्रेम सिंह कुशवाह (Sanjay son Prem Singh Kushwaha) निवासी तालपुरा कैथा गांव का है। पेशे से वह ऑटो चालक है। 8 दिन पहले ही यह सफारी कार उसने खरीदी थी। हालांकि गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर उसके ताऊ के नाम हजारी कुशवाह निवासी तालपुरा के नाम पर आ रहा है। पकड़ा गया संजय हादसे के बाद जब पुलिस ने उसका ब्रीथ एनालाइजर पर टेस्ट किया तो 0.521 एल्कोहल लेवल निकला है। 8 पैग के बरामद बताया जाता है। पर केस को मजबूत करने के लिए पुलिस ने उसका जेएएच भेजकर भी मेडिकल कराया है। उसमें भी शराब पीकर वाहन चलाने की पुष्टि हुई है। बाद में पूछताछ के बाद यह भी पता लगा है कि आरोपित संजय कई बार नशे में वाहन चलाते समय तिघरा के तालपुरा के पास बकरियों को कुचल चुका है।