Loading...

दाता की चिंता उचित है, कंकाली मंदिर क्षेत्र में बूचड़खाना नहीं बन सकता: जयवर्द्धन सिंह | BHOPAL NEWS

भोपाल। आदमपुर छावनी में बूचड़खाना (स्लॉटर हाउस) नहीं बनाया जाएगा। इस बात की की जानकारी रविवार सुबह नगरीय एवं प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने ट्वीट कर दी है। शनिवार को जयवर्द्धन के पिता एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने इस संबंध में अपने मंत्री पुत्र को पत्र लिखा था। 

जयवर्द्धन सिंह ने कहा है कि दाता की चिंता उचित है भाजपा लाख प्रयास कर ले, जब तक जयवर्धन सिंह इस पद पर है और कांग्रेस की सरकार है तब तक कंकाली मंदिर क्षेत्र (भोपाल) में बूचड़खाना नहीं बन सकता है। इस बूचड़खाने की योजना शिवराज सिंह जी ने बनाई थी और भाजपा शासित भोपाल नगरनिगम ने इस प्रस्ताव को पारित किया था।

दिग्विजय ने क्या लिखा था पत्र में: 

आदमपुर छावनी में बूचड़खाना (स्लॉटर हाउस) न बनाए जाने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह को पत्र लिखा है। दिग्विजय ने कहा है कि रायसेन रोड पर बिलखरिया स्थित कंकाली मंदिर सिर्फ भोपाल ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में आस्था का केंद्र है। नवरात्र में यहां लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। इसी मंदिर के रास्ते पर आनंद नगर में भगवान श्रीराम मंदिर एवं पटेल नगर में भगवान श्रीकृष्ण का इस्कॉन मंदिर और दादाजी धाम मंदिर स्थित है।

दिग्विजय ने कहा है कि मुझे ज्ञात हुआ है कि पूर्व सरकार के निर्णय के अनुसार भाजपा शासित भोपाल नगर निगम ने आदमपुर छावनी में स्लॉटर हाउस बनाने का काम शुरू कर दिया है। कंकाली मंदिर और श्रीराम मंदिर के निकट स्लॉटर हाउस के निर्णय से मेरी और लाखों श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत हुई हैं। भोपाल और उसके निकट के लाखों श्रद्धालु के मन में नगर निगम के इस निर्णय से आक्रोश व्याप्त है। मेरा आपसे अनुरोध है कि इस निर्णय के क्रियान्वयन पर तत्काल रोक लगाने तथा उक्त स्लॉटर हाउस के अन्यत्र स्थापित करने के लिए आवश्यक निर्देश प्रदान करने का नष्ट करें।