Loading...

मप्र के 4.30 लाख कर्मचारियों ने त्रिस्तरीय आंदोलन का ऐलान किया | MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओपी कटियार एवं प्रांत उपाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण नारायण शर्मा ने आज जारी विज्ञप्ति में बताया कि प्रदेश के साढ़े चार लाख से ज्यादा कर्मचारी तीन चरणों में अपनी मांगों की पूर्ति के लिए आंदोलन करेंगे। उक्त आंदोलन नवंबर दिसंबर एवं जनवरी माह में किया जाएगा। 

ब्लॉक, तहसील, राजधानी में ज्ञापन सौंपेंगे

नवंबर माह के द्वितीय सप्ताह में ब्लाक एवं तहसील स्तर पर ज्ञापन सौंपा जाएंगे। दिसंबर माह के द्वितीय सप्ताह में जिला स्तर पर धरना एवं प्रदर्शन कर रैली आयोजित कर जिला कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सौंपा जाएगा। जनवरी माह के द्वितीय सप्ताह में मध्य प्रदेश की राजधानी की राजधानी भोपाल में प्रदेश स्तर का धरना आयोजित किया जाएगा जिसमें संघ के पदाधिकारी सम्मिलित होंगे एवं रैली निकालकर मुख्य सचिव को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सौंपा जाएगा।

संभागीय सम्मेलन

आज की महासमिति की बैठक में संगठन के सदस्यता आंदोलन  चलाने एवं संभागीय सम्मेलन करने का भी निर्णय लिया गया। महासमिति को संघ के प्रदेश अध्यक्ष सर्वश्री ओपी कटियार, रामवीर सिंह रघुवंशी, लक्ष्मी नारायण शर्मा, विजय रघुवंशी, एसएम शुक्ला, एसएस रजक, विजय मिश्रा, अरविंद भूषण श्रीवास्तव, रविकांत बरोलिया, कैलाश नारायण सक्सेना, रमेश चिदार, राकेश खरे, हरिओम पांडे सहित अनेक वक्ताओं ने संबोधित किया। 

इस अवसर पर मध्य प्रदेश वाहन चालक कर्मचारी संघ के प्रांत अध्यक्ष श्री साबिर खान मध्य प्रदेश लघु वेतन कर्मचारी संघ के कार्यकारी प्रांत अध्यक्ष श्री निहाल सिंह जाट राज्य कर्मचारी संघ के महामंत्री श्री राजकुमार चंदेल एवं निगम मंडल कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय श्रीवास्तव नीलू भी उपस्थित थे जिन्होंने मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के आंदोलन का समर्थन का समर्थन किया ।

जिन मांगों को लेकर आंदोलन किया जाएगा उनमें प्रमुख हैं वेतन विसंगतियों को दूर किया जाए ,केंद्र के समान भत्ते दिए जाएं, शिक्षक एवं लिपिकों की वेतन विसंगति को दूर किया जाए , पदोन्नति पर लगी रोक को हटाकर सशर्त पदोन्नति की प्रक्रिया प्रारंभ की जाए, संघ द्वारा पूर्व में सोपे गए 24 सूत्रीय मांग पत्र का तुरंत निराकरण किया जाए, सरकार ने जो वचन पत्र में वादे किए हैं उन वादों की पूर्ति की जाए। 

महा समिति ने यह भी ने यह भी भी निर्णय लिया है कि अगर इन आंदोलनों के बाद भी सरकार ने कर्मचारियों की मांगों के निराकरण में कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं की तो फिर अनिश्चितकालीन हड़ताल सामूहिक अवकाश जैसे आंदोलन किए जाएंगे जिसकी तिथियां बाद में घोषित की जाएगी।महा समिति में 35 जिलों से आए जिला अध्यक्ष ब्लॉक एवं तहसील के पदाधिकारियों के साथ ही संभागी एवं प्रांतीय पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम का संचालन श्री अरविंद भूषण श्रीवास्तव ने किया और आभार प्रदर्शन श्री विजय रघुवंशी जिला शाखा अध्यक्ष भोपाल के द्वारा किया गया।