Loading...

प्रेरको ने शिक्षामंत्री व प्रमुख सचिव को 4 सूत्रीय मांगपत्र सौंपा

भोपाल/नीमच। म.प्र. कांग्रेस कमिटी द्वारा विधान सभा चुनाव में अपने वचन पत्र के वचन क्र.47.23 में वचन दिया था की अगर म.प्र. में कांग्रेस की सरकार बनती है तो प्रेरक शिक्षको की  समस्या का निराकरण तीन माह में किया जायेगा। जो की आज तक नही हुआ। 

आदर्श प्रांतीय संविदा प्रेरक शिक्षक संघ मध्य प्रदेश द्वारा विगत 18 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस कमिटी को पत्र सौंपकर वचन की याद दिलवाई गयी। और 7 अगस्त को हजारो प्रेरको द्वारा चिनार पार्क भोपाल में उपस्थित होकर वचन निभाने की अपील की गयी थी जिसमे केबिनेट मंत्री पी.सी. शर्मा ने प्रेरको के बिच उपस्थित होकर मुख्यमंत्री से प्रेरक प्रतिनिधि मण्डल की मुलाकात करवाने की बात रखी थी जो आज तक नही करवाई गयी। प्रदेश के प्रेरको द्वारा मजबूरन 5 सितम्बर शिक्षक दिवस को भोपाल में उपस्थित होकर अपनी मांग रखने पहुंचे तो प्रशासन द्वारा शिक्षा विभाग उप सचिव अनुभा श्रीवास्तव से भेंट करवाई गयी जिसमे श्रीवास्तव द्वारा जल्द शिक्षा विभाग प्रमुख सचिव से मुलाक़ात करवाने हेतु आश्वस्त किया था जो आज तक नही हुआ। 

इसी सन्दर्भ में आज 19 सितम्बर को आदर्श प्रंतीय संविदा प्रेरक शिक्षक संघ म.प्र. के 10 संसदीय प्रतिदिनिधि मंडल प्रतिनिधी मंडल सदस्य में प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह राजपूत, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजू जाट, प्रदेश सचिव सन्तोष विश्वकर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष, मोहन लाल विश्वकर्मा, अंजेश बामनिया, प्रदेश कोषाध्यक्ष कैलाश वर्मा, प्रदेश महामंत्री सतेंद्र बागरी, प्रदेश महासचिव रंजीत राठौड़, प्रदेश के सक्रिय सदस्य जगदीश राय द्वारा 18 सितम्बर से 20 सितम्बर 19 तक प्रथम दिवस में शाम 8 बजे शिक्षा मंत्री को ज्ञापन दिया। जिसमें उनसे निवदेन किया गया की हम प्रेरको का अन्य विभाग में समायोजन करे। जैसे संविदा शिक्षक वर्ग तीन का शिक्षक पद पर नियुक्ति दी जाये। गैर शैक्षिणक कार्य प्रेरको को दिये जायें। ग्रामीण पुस्तकालय खुलवाया जाये उसमे पुस्तकालय में सहायक पद पर प्रेरको को रखा जाए। आदि 4 सूत्रीय मांग रखी गई। 

आगमी 21 सितम्बर में दिल्ली में शिक्षा विभाग के सम्बंध में दिल्ली में बैठक होने वाली है। जिसमे सभी राज्य के शिक्षा मंत्री शामिल होंगे। जिसमे मध्य प्रदेश के 23 हजार प्रेरको की पीड़ा का भी जिर्क करे। और सरकार को अवगत करवायगी की राज्य के साथ देश मे 5 लाख साक्षरता संविदा प्रेरक, सालो से बेरोजगार घूम रहे हैं। शिक्षा मंत्री ने आश्वाशन दिया है कि प्रेरको की बात प्राथमिकता से रखेगे। ओर हमारे प्रमुख सचिव की भी आपकी मांग संबधित फाइल लेकर मुलाकात कर अवगत करवायेगे। इसके बाद अगले दिन हम प्रेरक प्रतिनिधि मंडल द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग में उपसचिव श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव और उप सचिव सुधीर कुमार कोचर से मुलाकात कर बात की गई।इसके बाद शाम 7 बजे हमारी मुलाकात स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी की गई। 

उसने हमारी बहाली के सम्बंध  विभाग क्या करवाई करवा रहा है, इस पर उन्होंने जवाब दिया है कि आप के विषय में हम चिंतित है आप के द्वारा जो कार्य किया गया उसकी हम प्रंससा करते है।और प्रेरको के सुझाव आये थे। पूर्व में प्रेरक 5 सितंबर को अनुभा श्रीवास्तव से मिले थे। उन्होंने आपकी मांग से अवगत करवाया गया था। प्रेरको की मांग है अन्य विभाग में कार्य दिया जाए तो हम कोशिश करेंगे आप प्रेरको की मांग उच्च अधिकारियों तक मांग रखेंगे।आपकी समस्या का जल्दी निराकरण हो का आश्वाशन दिया गया।