Loading...

घर से परीक्षा देने निकले 2 बच्चों की लाशें खदान में तैरती मिलीं | HARPALPUR NEWS

सुनील विश्वकर्मा। हरपालपुर। गुरुवार को थाना क्षेत्र अंर्तगत ग्राम गलान में सुबह उस समय हड़कंप मच गया जब घर से त्रैमासिक परीक्षा देने के लिए स्कूल के लिए निकले गांव के तीन बच्चें जयहिंद पिता गोविंद सिंह(13) कक्षा आठवीं कक्षा का छात्र, यश यादव पिता रामनरेश(11वर्ष) पांचवीं कक्षा का छात्र गोलू  यादव पिता मिथलेश (14 वर्ष) आठवीं कक्षा में पड़ते थे जानकारी के अनुसार दो बच्चें माध्यमिक शाला में पड़ते थे। 

व एक प्राथमिक शाला में बच्चें स्कूल में चल रही त्रैमासिक परीक्षा देने के लिए समय से पहले घर से स्कूल के लिए निकले थे। स्कूल का समय 10.30 बजे से है लेकिन बच्चें 10 बजे स्कूल समय से पहले पहुँच गए और तीनों बच्चों ने बैग स्कूल के बाहर रखकर स्कूल के पीछे मुरम की  खदानों में भरे पानी में नहाने के लिए चले गए जहां तीनो बच्चें खदानों की गहराई अधिक होने से तीनों बच्चे  पानी में डूब गए। 

लेकिन पास के गांव नाउपहारिया में माता के मंदिर की पुताई कर रहे  घनश्याम अहिरवार नाम के युवक को  इसकी जानकारी युवक की चाची  पार्वती देवी ने खदान में बच्चों के  डूबने की जानकारी दी तो तुरंत घनश्याम ने मंदिर की पुताई छोड़कर खदान में बच्चों को बचाने के लिए कूद पड़ा और जिसमे एक बच्चें के बाल दिख रहे थे  उसको घनश्याम तुरंत गोलू को बाहर  सुरक्षित निकाल ले आया और  उसके बाद दो और डूबे दो बच्चों को भी थोड़ी देर बाद निकाल लिया गया। मौके पर पहुँची थाना पुलिस व डायल 100 की मदद से तुरंत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हरपालपुर इलाज के लिए लाया गया लेकिन दोनों की हालत गंभीर होने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगांव रेफर किया गया जहाँ डॉक्टरों ने जयहिन्द व यश दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। 

अवैध खनन रोकने के लिए व जाँच पड़ताल के लिए खनिज विभाग के अधिकारियों ने कभी सुध ली नही। इसी लापरवाही की वजह से खनिज माफियाओं ने जहाँ जगह देखी वहीं जेसीबी से खुदाई की और जगह जगह 50 से 100 फ़ीट गड्ढे कर दिए हैं। बारिश से अब इसमें पानी भरा है। इसके बाद भी सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किये गए हैं। 

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुँचे नौगांव तहसीलदार व्ही पी सिंह ने घटनास्थल  पर जाकर ग्रामीणों से बात की और पीड़ित पक्षों को हर सम्भव मदद करने की बात कही। इसके बारे में खनिज विभाग को  इसकी जानकारी दी जाएगी और अवैध रूप से खोदी गयी मुरम की खदानों  की जाँच कराकर कार्यवाही की जाएगी और जो गहरी खदानें है उनको चारो तरफ से बंद करवाया जाएगा। जिससे आगे ऐसी अनहोनी न हो सके।

इनका कहना है
अवैध रूप से हो रहे उत्खनन की जाँच खनिज विभाग को भेजी जाएगी और अवैध रूप से खोदी गयी मुरम की खदानों में जो गहरे गड्ढे हो गए है उनके सुरक्षा के इंतजाम किए जाएंगे।
व्हीoपीo सिंह (तहसीलदार ,तहसील नौगांव)