Loading...

बरगी बांध लबालब पूरे 21 गेट खोलने पड़े | JABALPUR NEWS

जबलपुर। बरगी बांध के गेट खुलने के दो घंटे के भीतर ही नर्मदा का जलस्तर भी तेजी से बढ़ गया। ग्वारीघाट, तिलवारा घाट, भेड़ाघाट के तटों पर सायरन बजाकर अलर्ट के बारे में जानकारी दी गई। बांध प्रबंधन ने नर्मदा के जबलपुर से लेकर होशंगाबाद तक के 320 किमी लंबाई वाले क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी किया है। 

रविवार की शाम को बांध का जलस्तर 422.95 मीटर तक पहुंच गया था। जिसे नियंत्रित करते हुए 422.76 मीटर पर स्थिर किया गया। सभी गेटों से प्रति सेकंड 10645 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके अलावा विद्युत पावर प्लांट के 200 क्यूमेक पानी छोड़ा जा रहा है। इस प्रकार कुल 10845 क्यूमेक पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा है। लंबे समय बाद बरगी बांध के सभी 21 गेटों को खोला गया है. जिसमें 11 गेटों को 3-3 मीटर, 4 गेटों को ढाई मीटर, 4 गेटों को 2 मीटर व 2 गेटों को आधा-आधा मीटर तक खोला गया है. बरगी बांध प्रबंधन के मुताबिक इन गेटों के माध्यम से 7498 क्यूमिक पानी छोड़ा जा रहा है.

दरअसल पिछले दो दिनों से एमपी के अधिकांश जिलों में भारी बारिश से बाढ़ के हालात एक बार फिर उत्पनन्न हो गये हैं. बरगी बांध के जल भराव वाले जिलों मंडला, डिंडौरी, सिवनी, जबलपुर में पिछले 24 घंटों से हो रही बारिश का असर बरगी बांध पर पड़ा है. आज रविवार 8 सितम्बर की सुबह बरगी बांध अपने अधिकतम भराव सीमा 422.76 मीटर से कहीं ज्यादा 422.90 मीटर के पार जा पहुंचा, जिसके बाद पानी को नियंत्रित करने के लिए बांध के सभी 21 गेट खोल दिये गये हैं. जिससे नर्मदा नदी के निचले इलाकों में जबर्दस्त बाढ़ के हालात उत्पन्न हो गये हैं. प्रशासन ने जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, होशंगाबाद जिलों में एहतियात बरतने के निर्देश दिये हैं.

जबलपुर जिले में भारी बारिश का दौर जारी है. जबलपुर समेत ग्रामीण इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है. शनिवार रात भी जबलपुर समेत आसपास के इलाकों में जमकर बादल बरसे. भारी बारिश से निचले इलाकों में जलभराव के हालात देखे जा रहे हैं. जिले में लगातार बारिश से बरगी बांध लबालब हो गया है. संभाग के सबसे बढ़े बांध का जलस्तर 422.90 मीटर पहुंच गया है. हालांकि बांध का अधिकतम जलस्तर 422.76 मीटर रखा जाता है. अधिकतम जलस्तर को नियंत्रित करने बरगी बांध के सभी गेट खोले गए हैं. इस समय बरगी बांध के सभी 21 गेटों से पानी छोड़ा जा रहा है. एक बार में 7498 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. पानी छोड़े जाने के पहले प्रशासन ने नर्मदा नदी के डाउनस्ट्रीम वाले जिलों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया है. लोगों से नर्मदा तटों से दूर रहने की अपील की गई है.