Loading...

SHIVPURI का मिल्खा सिंह अब देश के लिए दौड़ेगा, MEDIA ने मुकाम दिलाया

भोपाल। लोग मीडिया पर कई सवाल उठाते हैं। बिकाऊ मीडिया, गोदी मीडिया, पप्पू मीडिया,  प्रेस्टीट्यूट और ना जाने क्या क्या कहते हैं, बावजूद इसके मीडिया समाज के प्रति अपना धर्म निभाती रहती है। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के नरवर कस्बे के मैदानों में दौड़ लगाकर अपने भाग्य का इंतजार कर रहे रामेश्वर गुर्जर को एक मुकाम मिल गया है और इसका श्रेय जाता है न्यूज ऐजेंसी एएनआई के पत्रकार संदीप सिंह और उसके बाद भोपाल समाचार डॉट कॉम को। 

शिवपुरी के मिल्खा सिंह ने भोपाल में रिकॉर्ड दर्ज कराया

शिवपुरी के मिल्खा सिंह, रामेश्वर गुर्जर ने एक बार फिर वही दौड़ लगाई जो वो अक्सर नरवर की सड़कों पर लगाया करता था लेकिन इस बार उसकी दौड़ रिकॉर्ड की जा रही थी। 19 साल के रामेश्वर ने नंगे पांव दौड़ते हुए ही उसैन बोल्ट (Usain Bolt) के रिकॉर्ड के करीब पहुंचकर सभी को हैरान कर दिया। उसका दावा है कि यदि उसे प्रशिक्षण और जूते मिल जाएं तो वो उसैन बोल्ट का रिकॉर्ड आसानी से तोड़ देगा। 

भारत सरकार के खेल मंत्री ने एथलीट अकादमी में दाखिले का वादा किया

रामेश्वर की स्पीड देखकर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू (Kiren Rijiju) ने रामेश्वर को एथलीट अकादमी में दाखिल कराने का भरोसा भी दिया है, तो वही शिवराज सिंह चौहान ने रामेश्वर गुर्जर की जमकर तारीफ की है। धावक रामेश्वर गुर्जर वीडियो देखकर खेल मंत्रालय (Sports Ministry) का जिम्मा संभाल रहे मंत्री रिजिजू ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा, 'शिवराज जी, किसी से कहें कि इसे (धावक) मेरे पास ले आए। मैं उसे एक एथलेटिक अकादमी में रखने की व्यवस्था करूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने शिवराज सिंह चौहान ने धावक रामेश्वर गुर्जर को अच्छा मौका और मंच दिलवाने के लिए ट्विटर के जरिए खेल मंत्री किरेन रिजिजू से समर्थन मांगा था।

इससे पहले मध्य प्रदेश राज्य के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने भी रामेश्वर को भोपाल में बेहतर प्रशिक्षण देने की बात कही है। पटवारी ने मंगलवार को रामेश्वर को भोपाल आमंत्रित करते हुए अधिकारियों से कहा, 'ऐसी प्रतिभा को बेहतर खेल सुविधा, अच्छे शूज और प्रशिक्षण दिया जाए, तो वह 100 मीटर की दूरी नौ सेकेंड में ही तय कर सकता है।

पत्रकार संदीप सिंह की खोज है रामेश्वर गुर्जर

बता दें कि रामेश्वर गुर्जर के अंदर मौजूद 'मिल्खा सिंह' की पहचान सबसे पहले भोपाल के पत्रकार संदीप सिंह ने की है। संदीप सिंह इन दिनों न्यूज ऐजेंसी एएनआई को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने ना केवल ट्वीटर पर रामेश्वर गुर्जर का वीडियो शेयर किया, जो देश भर में वायरल हो रहा है, बल्कि खेल मंत्री जीतू पटवारी और भोपाल समाचार तक भी पहुंचाया। भोपाल समाचार ने तत्काल इस खबर को लिफ्ट कराया। देखते ही देखते यह देश भर में वायरल होने लगा। इसी बीच खेल मंत्री जीतू पटवारी ने रामेश्वर गुर्जर को भोपाल बुला लिया।