Loading...

पीसीसी चीफ: सोनिया गांधी से मिलकर निकले कमलनाथ, पढ़िए क्या बोले | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा दावा पेश करने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। बाह निकलने के बाद कमलनाथ ने कहा कि जल्द नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा हो जाएगी। कमलनाथ ने सिंधिया के नाराज़ होने और उनकी अध्यक्ष बनाये जाने की मांग को लेकर आलाकमान को अल्टीमेटम दिए जााने की खबरों को उन्होंने गलत बताया। 

कांग्रेस के भीतर चल रही खींचतान का ही नतीजा है कि एक साथ 10 से ज्यादा नेताओं के नाम पार्टी अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हो गए, इनमें प्रमुख रूप से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मंत्री मुकेश नायक, वर्तमान मंत्री उमंग सिंगार, ओमकार सिंह, मरकाम कमलेश्वर पटेल, सज्जन वर्मा, बाला बच्चन के अलावा पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन और पूर्व प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष शोभा ओझा के नाम की चर्चा जोरों पर है।

संजय कपूर और सुधांशु त्रिपाठी ने सर्वे किया था

पार्टी सूत्रों का कहना है कि लोकसभा चुनाव की हार के बाद ही पार्टी ने नए अध्यक्ष के लिए कार्यकर्ताओं से मंथन शुरू कर दिया था। राष्ट्रीय सचिव और प्रदेश में सह प्रभारी संजय कपूर और सुधांशु त्रिपाठी ने इस मसले पर चुनाव हारे उम्मीदवारों के साथ संबंधित संसदीय क्षेत्रों के 40 से 50 कार्यकर्ताओं से हार के कारण तो पूछे ही थे, साथ ही नए अध्यक्ष को लेकर भी उनसे सलाह मशविरा किया गया था।

सचिवों ने 6 विकल्प दिए थे

सूत्रों के अनुसार, चुनाव हार के कारणों की जो रिपोर्ट अगस्त माह में पार्टी हाईकमान को सौंपी गई थी, उसमें पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर भी राय दी गई थी और कार्यकर्ताओं की पसंद वाले अध्यक्षों के नाम की सूची भी भेजी गई थी। सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रीय सचिवों की रिपोर्ट में ज्योतिरादित्य सिंधिया, अजय सिंह, अरुण यादव, मुकेश नायक, बाला बच्चन, सज्जन वर्मा, उमंग सिंगार के नाम प्रमुख रूप से थे।