Loading...    
   


किसी (कलेक्टर-एसपी) के बाप में दम नहीं है जो आपकी न सुने: पीसी शर्मा | DATIA MP NEWS

भोपाल। सरकार आपकी है। इसलिए अब ये नहीं कहो कि ये अधिकारी नहीं सुन रहा है वो अधिकारी नहीं सुन रहा है। अगर नहीं सुन रहा है तो पहले विधायकों से कहें। अगर अधिकारी इनकी भी न सुनें तो मुझे फोन लगाएं, मैं वहीं से फोन करूंगा मिस्टर कलेक्टर, एसपी ये काम हो जाना चाहिए। किसी बाप के बाप में दम नहीं है जो आपकी न सुने, हनुमान की तरह बनो, अब बात पीके शर्मा (सीएमएचओ) की रही तो जो पीके आया है तो उसे हटा देंगे। सिलावट से हम बात करेंगे लेकिन चार्ज किसे मिलेगा इसके बारे में आप सोचो। यह बात पहली बार दतिया आए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को जिला कांग्रेस कार्यालय पर कार्यकर्ता बैठक में कही। 

उन्होंने कहा कि ई टेंडर घोटाले में भी मछलियां फंसने लगी हैं, मगर मगरमच्छ को पकड़ना है वह भी जल्द ही पकड़ा जाएगा। आप लोग काम करो। भाजपा की सरकार को 15 साल का वक्त हो गया है। इसलिए आम जनता में भी भाजपा का ही माहौल है। लोकसभा चुनाव में भी आपने देख लिया है। धीरे-धीरे जनता के बीच कांग्रेस की सरकार और उसका काम दिखेगा। आप सभी निकाय चुनाव के लिए काम करें। उन्होंने कहा कि जो केस राजनीतिक तरीके से लगे हैं वे एक प्रोसेस के तरीके से हटाए जाएंगे लेकिन आप पुतला जलाएं और आंदोलन जारी रखें। 

इससे पहले भांडेर विधायक प्रतिनिधि संतराम सिराैनिया ने बिजली की समस्या से अवगत कराया और जमे हुए अधिकारियों की समस्या भी बताई। सेंवढ़ा विधायक घनश्याम सिंह ने कहा कि सेंवढ़ा क्षेत्र में बहुत बड़े रकबे में धान की रुपाई हुई है। बारिश भी उम्मीद के मुताबिक नहीं हो रही है। किसानों ने बोरवेल खनन करा लिए हैं इसलिए बिजली की आवश्यकता है। हालांकि अभी हाल में ही बड़ा ट्रांसफर रखवाया है उससे कुछ हद तक समस्या खत्म हुई है। 

सेंवढ़ा विधायक ने राजनीतिक तरीके से लगाए गए केसों का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा सरकार में अगर 500 मीटर दूर भी काले झंडे दिखाए तो केस लग जाता था। मुझ पर भी गाली गलौज और मारपीट का केस लगा दिया जबकि आप सभी मेरे स्वभाव से परिचित हैं। बैठक में प्रदेश महासचिव मुरारीलाल गुप्ता, जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव, महेश गुलवानी, सुरेश झा, अन्नू पठान, गुरुदेवशरण गुप्ता, विष्णु गुर्जर, नरेंद्र गुर्जर, सुनील खटीक आदि मौजूद रहे। 

यहां के लोकल विधायक साजिश रचने में माहिर हैं
हाल में ही कांग्रेस कार्यालय पर प्रभारी मंत्री डॉ. गोविंद सिंह के खिलाफ पारित किए गए निंदा प्रस्ताव के सवाल पर जनसंपर्क मंत्री शर्मा ने इसे सोचा समझा षड्यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि यहां के लोकल विधायक हैं, वे इन सब चीजों में माहिर हैं। प्रभारी मंत्री डॉ. गोविंद सिंह मप्र के वरिष्ठ मंत्री हैं। उनकी बात मुख्यमंत्री कमलनाथ भी टॉप प्रायोरिटी पर मानते हैं। डॉ. सिंह यहां पहले से जुड़े हैं और प्रभारी मंत्री से काफी योजनाओं का लाभ मिलेगा। 

दतिया अफवाहों का गढ़ है 
उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने की अटकलों के सवाल पर शर्मा ने कहा कि पूरे मप्र में अफवाह फैलाने का गढ़ दतिया ही है। यहीं से सभी तरह की अफवाह फैलाई जा रही हैं। लेकिन हमारी सरकार पूरे पांच साल तक चलेगी और काम करेगी। अभी दो विधायक भाजपा के हमारे पास आए हैं और कई लाइन में लगे हैं। उनका एक सचेतक 12-12 विधायकों को देख रहा है, पहले वो कहते थे कि हमारी तरफ विधायक आएं लेकिन अब इसमें लगे हैं कि रोको कहीं चले न जाएं, अपने विधायकों को ही शक की दृष्टि से देख रहे हैं। भाजपा के लोग अपने विधायकों की जासूसी कर रहे हैं। 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here