Loading...

भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स ललित जैन तक सीमित रह गया, ना कार्यक्रम हुए ना चुनाव | BHOPAL NEWS

भोपाल। उद्यमियों एवं व्यापारी की सबसे बड़ी संस्था भोपाल चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री का मौजूदा कार्यकाल खत्म हुए करीब एक साल हो चुका है, लेकिन अब तक इसके चुनाव नहीं हुए हैं। मौजूदा कार्यकारिणी का निर्वाचन 31 अगस्त 2015 को हुआ था। इसका 3 वर्ष का कार्यकाल 31 अगस्त 2018 को ही खत्म हो चुका है। इतने लंबे समय तक चुनाव न होने से सदस्यों में खासी नाराजगी है। 

संस्था के उपाध्यक्ष तेजकुल पाल सिंह पाली ने तो पद से त्यागपत्र दे दिया। पाली को पिछले चुनावों में उपाध्यक्ष के पद पर सबसे अधिक वोट मिले थे। पिछले तीन साल में पद छोड़ने वाली पाली दूसरे पदाधिकारी हैं। इससे पहले अध्यक्ष पर वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाकर कोषाध्यक्ष आदित्य जैन मनयां ने भी इस्तीफा दे दिया था। 

संस्था के पूर्व अध्यक्ष संतोष अग्रवाल ने कहा कि पिछले तीन सालों में जीएसटी, रेरा और नोटबंदी जैसे अहम कानून आए जिनको लेकर व्यापारियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन चेंबर ने एक बार भी आगे आकर व्यापारियों के मुद्दे नहीं सरकार के समक्ष नहीं उठाए। पूरे साल अध्यक्ष ललित जैन के क्रियाकलाप को लेकर विवाद होते रहे। उन पर चेंबर के मद में जमा पैसे के दुरुपयोग के आरोप बार-बार लगे। 

कुल 2200 सदस्य हैं, सभी दिग्गज नेता भी शामिल

मप्र सरकार में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा, महापौर आलोक शर्मा, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, मप्र कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव अतुल शर्मा भी चेंबर के मेंबर हैं। इसके कुल 2200 सदस्य हैं।