Loading...

AKASH VIJAYVARGIYA मामले में फैसला 22 अगस्त को संभावित | MP NEWS

भोपाल। भाजपा के इंदौर से विधायक आकाश विजयवर्गीय व उनके दो साथियों संतोष पाटीदार एवं जितेंद्र शर्मा ने मंगलवार को विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह की अदालत में महू में रेल रोको आंदोलन के दौरान रेलवे एक्ट के तहत दर्ज किए गए मामले में अपने मुल्जिम बयान दर्ज कराए। विशेष न्यायाधीश ने मामले की अगली सुनवाई 22 अगस्त को नियत की है। संभवत: इसी दिन फैसला सुनाया जा सकता है। 

मामला क्या है
महू में निर्माणाधीन किशनगंज रेलवे ओवरब्रिज के अधूरे कार्य के विरोध में भाजपा ने फतेहाबाद-महू पैसेंजर ट्रेन को 27 मिनट तक किशनगंज रेलवे क्रॉसिंग के पास रोके रखा। क्रॉसिंग पर गेट भी बंद था जिससे वाहनों की कतार लग गई। रेलवे अधिकारियों ने दो-तीन माह में इसे पूरा बनाने का कहा तो भाजपाई नहीं माने। बाद में एक माह में ब्रिज बनाने की चेतावनी देकर हटे। इस दौरान ट्रेन में बैठे यात्री और वाहन चालक खासे परेशान हुए।

प्रदर्शन के दौरान आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर से चलकर 12 बजे महू आने वाली फतेहाबाद-महू पैसेंजर को रोक लिया। ट्रेन पर चढ़कर 27 मिनट तक ((11.55 से 12.22 बजे तक)) नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने मामूली लाठीचार्ज भी किया। इस दौरान पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के ईई एसके पिपलोदिया को बुलाकर सवाल जवाब किए एवं चेतावनी दी गई।