Loading...

भाजपा में अकेले पड़े कैलाश विजयवर्गीय, रमेश मेंदोला ने भी बचाव नहीं किया | MP NEWS

भोपाल। कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र मोह ने उनकी अब तक की पूरी राजनीति पर पानी फेर दिया। उन्होंने कच्चे खिलाड़ी को जिद करके विधानसभा का टिकट दिलवाया। नतीजा पीएम नरेंद्र मोदी तक नाराज हो गए। कल तक जितने भी भाजपाई 'बैटमार विधायक' को क्रांतिकारी और महिलाओं का रक्षक बता रहे थे, आज जुबां पर ताला लगाए घूम रहे हैं। हालात यह हैं कि कैलाश विजयवर्गीय गुट के नंबर 2 विधायक रमेश मेंदोला ने भी उनके बेटे आकाश ​का बचाव नहीं किया। 

पीएम नरेंद्र मोदी के बयान के बाद जब कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे का समर्थन करने वाले नेताओं ने मीडिया ने बयान मांगे तो हर कोई बचता नजर आया। आकाश के पिता और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के सबसे खास समर्थक विधायक रमेश मेंदोला कुछ भी बोलने से बचते रहे। उन्होंने कहा कि मुझे मामले की जानकारी ही नहीं है। मामला कोर्ट में चल रहा है, इसलिए टिप्पणी करना ठीक नहीं।

सोशल मीडिया से आकाश के समर्थन वाली पोस्ट और फोटो गायब

बता दें कि आकाश विजयवर्गीय की गिरफ्तारी के बाद सैंकड़ों भाजपा नेताओं ने उनके समर्थन में सोशल मीडिया पर अपने तर्क प्रस्तुत करते हुए आकाश की बल्लेबाजी को उचित ठहराया था। जमानत के बाद लोगों ने मिठाईयां बांटी थीं। जश्न मनाया था। इसके फोटो भी सोशल मीडिया पर अपलोड किए गए थे परंतु पीएम नरेंद्र मोदी का बयान आते ही सबसे अपने अपने बयान और फोटो डीलिट कर दिए। 

घर में बंद हुए आकाश विजयवर्गीय

पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनादन के सिद्धांत पर चलने वाले विधायक आकाश विजयवर्गीय जेल से रिहा हुए तो घर में कैद हो गए। उन्होंने खुद को घर में बंद कर लिया है या उनके पिता कैलाश विजयवर्गीय ने उन्हे घर में कैद किया यह तो पता नहीं चल पाया है परंतु आकाश विजयवर्गीय घर में बंद हैं, यह सार्वजनिक सत्य है। इंदौर में आज कार्यकर्ता सम्मेलन था। सभी नेता पहुंचे परंतु आकाश विजयवर्गीय नहीं आए। सरकारी अधिकारी को पीटने के तत्काल बाद मीडिया में बयान देने वाले आकाश अब मीडिया के सामने आने को तैयार नहीं। 

पीएम मोदी के बयान पर नेताओं ने क्या कहा

मालिनी गौड़- इंदौर की मेयर मालिनी गौड़ ने कहा मुझे मामले की जानकारी नहीं है। मोदी जी के बयान पर क्या टिप्पणी करूं। वो नो कमेंट्स कहकर चली गईं।

विजय शाह - पूर्व मंत्री विजय शाह ने आकाश का बचाव किया। उन्होंने कहा कि आकाश ने एक परेशान महिला कार्यकर्ता के लिए ये कदम उठाया था। घटना क्यों हुई ये भी देखना चाहिए। आकाश ने जो किया वो क्षमा करने लायक है। शाह बोले नए विधायकों को ट्रेनिंग देने की ज़रूरत है।

सुदर्शन गुप्ता- प्रदेश उपाध्यक्ष सुदर्शन गुप्ता ने कहा कि पार्टी फैसला करे क्या करना चाहिए। आप मेरे वरिष्ठ नेताओं से बात कीजिए। आकाश को पार्टी से निकालने के सवाल पर कहा, नो कमेंट्स।

उमेश शर्मा- बीजेपी नेता और प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा ने कहा कि अभी न्यूज़ देखी नहीं है। मैं देवास में था न्यूज़ देखकर कमेंट कर पाऊंगा।

जीतू जिराती-बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष जीतू जिराती ने आकाश विजयवर्गीय का बचाव किया। उन्होंने कहा कि आकाश का मामला एक दुर्घटना थी। उसे यहीं खत्म कर देना चाहिए। आकाश ने जनहित में काम किया है। मोदी जी ने जो कहा वो उचित, उस पर टिप्पणी करना नहीं चाहता।

रामेश्वर शर्मा- विधायक रामेश्वर शर्मा आकाश विजयवर्गीय पर बयान देने से बचते नजर आए। इंदौर में सदस्यता अभियान के लिए आए शर्मा ने कहा कि आज केवल सदस्यता अभियान की बात करूंगा।