Loading...

MP BOARD 12वीं टॉपर्स: कमलनाथ की स्कूटी के कारण शिवराज का लैपटॉप लापता हो गया

भोपाल। स्कूलों में 15 अगस्त के राष्ट्रीय पर्व की तैयारियां शुरू हो गईं लेकिन एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले प्रदेश के मेधावी छात्रों को सरकार लैपटॉप देगी या स्कूटी यह अभी तक क्लीयर नहीं हो पाया है। पिछले वर्ष तक ऐसे स्टूडेंट्स को लैपटॉप के लिए 25 हजार रुपए मिलते थे। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में स्कूटी देने का वादा किया था। अब हालात यह हैं कि स्कूटी के झमेले में स्टूडेंट्स का लैपटॉप भी अटका पड़ा है। 

12वीं में 70 प्रतिशत से ज्यादा वालों का वादा किया था

मध्यप्रदेश सरकार अभी तक 12वीं की परीक्षा में 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले आरक्षित वर्ग के स्टूडेंट्स और 85 प्रतिशत अंक लाने वाले सामान्य वर्ग के स्टूडेंट्स को लैपटॉप खरीदने के लिए 25-25 हजार रुपए का भुगतान करती थी। विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने वचन-पत्र में वादा किया था कि 12वीं में 70 प्रतिशत अंक लाने वाले स्टूडेंट्स को लैपटॉप दिया जाएगा। गत मई माह में मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया। शेड्यूल के हिसाब से जून माह तक स्टूडेंट्स को लैपटॉप खरीदने के लिए राशि का वितरण कर दिया जाता था, लेकिन अब तक सरकार ने यह सुनिश्चित नहीं किया है कि वो इस मामले में क्या करने वाली है। 

पोर्टल पर भी नहीं अपलोड योजना 

इस संबंध में स्टूडेंट्स की पात्रता की जानकारी शिक्षा पोर्टल पर अपलोड कर दी जाती थी, लेकिन अभी तक इस पोर्टल पर भी मेरिट में आए पात्र स्टूडेंट्स तक की ताजा जानकारी नहीं दी गई है। इसके अलावा इस पोर्टल पर अभी तक पुरानी जानकारी ही शो हो रही है, जिसमें पुरानी मेरिट और 85 प्रतिशत अंकों का ही हवाला दिया गया है। इसमें 70 प्रतिशत अंकों का संशोधन नहीं हुआ है। 

चेयरमैन को कुछ पता ही नहीं हैं

सलीना सिंह, चेयरमैन माध्यमिक शिक्षा मंडल का बाबुओं जैसा बयान सामने आया है। कहा है  मैंने हाल ही में चेयरमैन पद पर ज्वॉइन किया है। इस संबंध में ज्यादा जानकारी तो नहीं है, लेकिन प्रोत्साहन की राशि को लेकर प्रक्रिया चल रही है। इस संबंध में जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।