Loading...

INDORE : चरस का शौक पूरा करने करोड़पति का बेटा चोरी करने ज्वेलर के घर में घुसा

इंदौर। राऊ थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात ज्वेलर के घर चोर घुस गए। ज्वेलर की पत्नी ने एक चोर को बेडरूम में छिपते देख शोर मचा दिया। पुलिस ने लोगों की मदद से दो चोरों को पकड़ लिया। चोर ज्वेलर के आसपास ही रहते हैं। ज्वेलर उसे पहचाने नहीं इसलिए सरगना ने सिर मुंडवा लिया था। उसके पिता के पास चार करोड़ की प्रॉपर्टी है। पुलिस तीन साथियों की तलाश कर रही है। आरोपितों ने बॉल ढूंढने के बहाने ज्वेलर के घर की रेकी की थी। पुलिस के मुताबिक, घटना रात करीब 2.30 बजे की है। किबे कॉलोनी में रहने वाले धर्मेश जागीरदार (Dharmesh Jagirdar) की राजलक्ष्मी ज्लेवर (Rajalakshmi Jeweler) के नाम से सोने-चांदी की दुकान है। दुकान के ऊपर ही उनका परिवार रहता है। उन्होंने पुलिस को बताया कि बारिश के कारण दूसरी मंजिल का दरवाजा नहीं लगा तो उसे तार से बांध दिया था।

चोरों ने तार काटा और घर में घुस गए। एक चोर चाकू लेकर बेडरूम में आया और पलंग के पास छिप गया। पत्नी प्रीति को आहट सुनाई दी तो नींद खुली। उसने जैसे ही चोर को देखा शोर मचा दिया। चोर भागा तो धर्मेश ने पीछा कर पकड़ लिया। चोर ने कहा भैया मुझे पहचाना नहीं क्या। मैं आपके घर के पीछे रहने वाला सागर सिसौदिया (Sagar Sisoudia)हूं। मैं तो आपसे मिलने आया था। धर्मेश ने चांटे मारे और आवाज लगाकर भाई राकेश, पिता कैलाश, भाभी रीता व भानजी सोनाली को उठा दिया। धर्मेश के पिता कैलाश ने सागर को पकड़ा और अन्य सदस्य दूसरे कमरों में छानबीन करने लगे। तभी कूदने की आवाज सुनाई दी। घर में छिपे अन्य चोर भाग रहे थे। सागर भी कैलाश को धक्का देकर उसके घर में छिप गया।

चोर के पिता की चार दुकान, मकान और करोड़ों की जमीन

धर्मेश ने डायल-100 को कॉल कर मौके पर बुलाया। वे सागर के घर पहुंचे और उसके पिता जगदीश सिसौदिया (Jagdish Sisodia) से कहा कि तुम्हारा बेटा चोर है। वह अभी मेरे घर से भागकर आया है। जगदीश ने कहा वह तो सो रहा है। धर्मेश ने कहा सिर मुंढवा कर घुसा था। जगदीश गुस्सा हुए और कहा रात 10 बजे मैंने देखा था उसके बाल थे। दोनों परिवारों में बहस होने पर सागर को ढूंढा तो सिर के बाल गायब थे। पिता ने उसकी पिटाई की और खुद थाने लेकर पहुंच गए। पुलिस के मुताबिक, जगदीश के पास चार दुकानें, एक मकान और करोड़ों की जमीन है। सागर गलत संगत में पड़ गया है। कुछ देर बाद पुलिस ने धर्मेश के घर के पीछे रहने वाले एक नाबालिग को भी पकड़ लिया। पूछताछ में उसने कबूला कि दो दिन पहले वह बॉल ढूंढने के बहाने ज्वेलर के घर गया था। उन्हें पता था कि दुकान में लाखों का सोना रहता है। सागर ने दो घंटे पहले ही सिर मुंढवाया था। 

चरस पीने के शौक में रईसजादे बन गए चोर

पुलिस के मुताबिक, आरोपितों ने कबूला कि वह गांजा और चरस का नशा करते हैं। नशे का शौक पूरा करने के लिए चोरी करने लगे थे। पुलिस के मुताबिक, तीन अन्य चोरों की तलाश है। आरोपितों के खिलाफ कुछ युवक बयान देने पहुंचे। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पूर्व उन्होंने गैंग में शामिल होने का बोलकर धमकाया था।