Loading...

अब समलैंगिंक, लिव-इन और लेस्बियन को भी मिलेगा ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस | GROUP HEALTH INSURANCE FOR LIVE IN PARTNER

न्यूयॉर्क स्थित अमेरिकी बैंक सिटीबैंक इनकॉर्प भारत में काम करने वाले अपने तमाम समलैंगिक और लिव-इन कर्मियों को भी सामूहिक बीमा कवर का लाभ देगा। भारत में ऐसा करने वाला यह पहला बैंक होगा, जो अपने सभी तरह के कर्मियों को सामूहिक बीमा कवर का लाभ देगा। 

यह होंगे बीमा कवर में शामिल

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस बीमा कवर में जो समलैंगिंक शामिल होंगे उनमें लिव-इन के अलावा लेस्बियन, गे, बाईसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर और क्वीर शामिल होंगे। सिटी बैंक की एक अधिकारी ने कहा कि इस बीमा कवर का लाभ ऐसे कर्मचारियों के बच्चों और माता-पिता और उनके पार्टनर को भी मिलेगा। 

CITI BANK के देश में 17 हजार कर्मचारी

फिलहाल देश में सिटीबैंक के 17 हजार से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं। बैंक के इस कदम से कई कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। इससे पहले देश में गोदरेज समूह, एक्सेंचर और आईबीएम ने भी इस तरह की सुविधा ऐसे कर्मचारियों को देने का एलान किया था। 

कई कंपनियां नहीं देती हैं सुविधा

हालांकि देश में कई ऐसी बीमा कंपनियां हैं, जो कि लिव-इन में रहने वाले कर्मचारियों को बीमा सुविधा का लाभ नहीं देती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ऐसे पार्टनर के बारे में कंपनियों को कई बार सही स्थिति पता नहीं चलती है।