Loading...

गुमठियां तो एमपी नगर में ही लगाएंगे: सुरेंद्र नाथ सिंह | BHOPAL NEWS

भोपाल। सरकारी जमीन पर अवैध गुमठियों को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। प्रशासन पूरी तरह से तैयार है इसलिए पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह किसी भी प्रकार की गैरकानूनी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं परंतु अपनी मांग पर अड़े हुए हैं। गुमठी व्यापारियों के नेता सुरेंद्रनाथ सिंह ने नगर निगम और जिला प्रशासन के अफसरों के साथ हुई मीटिंग में जमकर हंगामा किया और ऐलान कर दिया कि गुमठियां तो एमपी नगर में ही लगाई जाएंगी। 

प्रशासन भी अड़ गया, एमपी नगर को गुमठी फ्री बनाएंगे

व्यापारी एमपी नगर में ही गुमठी लगाने की मांग पर अड़े रहे। इस पर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस के अफसरों ने एमपी नगर में गुमठी नहीं लगाने देने का फरमान सुना दिया। इसके बाद गुमठी व्यापारियों ने मीटिंग का बहिष्कार कर दिया। मीटिंग बेनतीजा खत्म हो गई। बता दें कि नगर निगम ने एमपी नगर जोन- 1 से बीते एक सप्ताह में सड़क किनारे लगी करीब 400 गुमठियों को हटाया है। तभी से व्यापारी और पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह नगर निगम की गुमठी हटाने की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं। 

हम व्यवस्थापन के लिए जगह तलाश रहे हैं, सहयोग करें

कमल सोलंकी, अपर आयुक्त, नगर निगम ने कहा पूरे प्रशासन का निर्णय है कि एमपी नगर में अवैध गुमठियां नहीं लगने दी जाएंगी। हम इनके व्यवस्थापन के लिए जगह तलाश रहे हैं। अभी हमने दाना- पानी रोड और कोलार रोड पर कुछ जगह देखी है लेकिन इस पर अंतिम निर्णय होना है। आपको कार्रवाई में सहयोग करना चाहिए। 

सोमवार को विधानसभा का घेराव करेंगे

सुरेंद्रनाथ सिंह, पूर्व भाजपा विधायक ने कहा केंद्र सरकार ने फेरी वालों के लिए कानून बनाया है। आपको गुमठी हटाने से पहले व्यवस्थापन की व्यवस्था करना चाहिए थी। हम डीआईजी, कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर तीनों को कानूनी नोटिस भेज रहे हैं और सोमवार को विधानसभा का घेराव करेंगे। 

एमपी नगर से विस्थापित होकर दानापानी नहीं जाएंगे

पूर्व विधायक के जाने के बाद अधिकारियों ने गुमठी व्यवसायियों से चर्चा की। निगम के कमर साकिब ने इन लोगों को बताया कि हम जगह ढूंढ रहे हैं। अभी कोलार रोड और दाना पानी रोड पर जगह देखी है लेकिन गुमठी व्यवसायी राजी नहीं हुए। सभी ने एक स्वर में कहा कि हमें एमपी नगर में ही जगह चाहिए। हम इतनी दूर जाकर कारोबार नहीं कर सकते।