Loading...

LIC: भारत में सबसे भरोसेमंद भारतीय ब्रांड | INDIA'S MOST TRUSTED BRAND 2019

टीआरए की ब्रांड विश्वास रिपोर्ट, 2019 (TRA's Brand Trust Report 2019) जारी हो गई है। इसमें TOP 7 में एक मात्र भारतीय कंपनी (INDIAN COMPANY) का नाम दर्ज हुआ है और वो है भारतीय जीवन बीमा निगम (LIFE INSURANCE CORPORATION) जिसे एलआईसी भी कहते हैं। भारतीय ग्राहकों का भरोसा अब विदेशी कंपनियों पर ज्यादा हो गया है या फिर आप ऐसा भी कह सकते हैं कि भारतीय बाजार में अब विदेशी कंपनियों का आधिपत्य हो गया है। नंबर पर पर लैपटॉप ब्रांड डेल भारत का सबसे भरोसेमंद ब्रांड है। 

इसके बाद वाहन कंपनी JEEP और बीमा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी LIC का नंबर आता है। टीआरए की ब्रांड विश्वास रिपोर्ट, 2019 के अनुसार शीर्ष सात ब्रांडों में एलआईसी एकमात्र भारतीय कंपनी है। AMAZON चौथा सबसे भरोसेमंद ब्रांड है। उसके बाद APPLE iPHONE भारत का 5वां सबसे भरोसेमंद ब्रांड है, जो 2018 से 116 वें स्थान से लंबी छलांग के साथ यहां पहुंचा है। इसके साथ ही एप्पल आईफोन मोबाइल फोन श्रृंखला में भी शीर्ष पर है।

सैमसंग मोबाइल फोन (SAMSUNG MOBILE) ब्रांड छठे स्थान पर है और मोबाइल फोन में अग्रणी है। एलजी टेलीविजन (LG TELEVISION) 7वां स्थान हासिल करने में सफल रहा है और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स सुपर-श्रेणी में भी अग्रणी है। अवीवा लाइफ इंश्योरेंस (AVIVA LIFE INSURANCE) को 8वां सबसे भरोसेमंद ब्रांड आंका गया है और मारुति सुजुकी (MARUTI SUZUKI) 9 वें स्थान पर है।

भारतीय स्टेट बैंक -एसबीआई (STAT BANK OF INDIA) 10वें स्थान पर है। ब्रांडों की सबसे बड़ी संख्या TATA समूह की है और सबसे विश्वसनीय ब्रांडस की सूची में उसके 23 ब्रांड हैं। GODREJ के 15 ब्रांड हैं, AMUL के 11 और SAMSUNG का 8 श्रेणियों में प्रतिनिधित्व है। एलजी, होंडा, कैडबरी, नेस्ले, पारले और डाबर को 7-7 ब्रांडों द्वारा प्रतिनिधित्व मिला है। डाबर के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि यह है कि इसके ब्रांड अपनी अपनी श्रेणियों में से सबसे आगे हैं।

यह टीआरए की ब्रांड रिपोर्ट का नौवां संस्करण है। टीआरए रिसर्च ने 16 शहरों में 2,315 लोगों की राय पर यह रिपोर्ट तैयार की है। इस नई रिपोर्ट पर टीआरए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एन. चंद्रमौली ने कहा, “विश्वास के बिना, एक ब्रांड की उपभोक्ताओं के साथ सहभागिता पूरी तरह से अप्रभावी हो जाती है। एक ब्रांड को लेकर विश्वास उन सभी लेनदेन के आधार पर पैदा होता है जो कि उपभोक्ताओं के ब्रांड के साथ होते हैं।"