शुक्र का वृषभ में गोचर: पढ़िए आपकी राशि कितनी प्रभावित होगी | JYOTISH NEWS

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर व्यक्ति के जीवन में शुक्र ग्रह भौतिक सुख-सुविधाओं का कारक माना गया है. बाकी ग्रहों की तरह शुक्र का भी हमारे जीवन पर अच्छा और बुरा असर पड़ता है. शुक्र ग्रह 4 जून 2019, मंगलवार को प्रातः 11:11 बजे वृषभ राशि में गोचर करेगा और 29 जून 2019, शनिवार की प्रातः 01:21 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा. इस दौरान शुक्र के गोचर से सभी राशियां प्रभावित होने वाली हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जानने की कोशिश करते हैं कि शुक्र का वृषभ राशि में परिवर्तन होने की वजह से किस राशि को फायदा तो किस को नुकसान उठाना पड़ सकता है.

मेष- इस राशि से द्वितीय भाव में शुक्र का गोचर आपके परिवार, वाणी और प्रारंभिक शिक्षा तथा धन पर शुभ प्रभाव अवश्य डालेगा.
उपाय- भगवान शिव के मंदिर में साबुत चावल दही अर्पण करके  किसी जरूरतमंद स्त्री को दान करते हैं.

वृषभ- इस  राशि के सभी लोगों को उत्तम स्वास्थ्य की प्राप्ति के साथ-साथ धन और मान-सम्मान की प्राप्ति होगी. रुके हुए कार्य पूरे होंगे.
उपाय-  हो सके तो सवा सात रत्ती तक का ओपल जरूर धारण करें. साथ ही घर में शुक्र यंत्र स्थापित करें.

मिथुन- इस राशि से बारहवें घर में शुक्र का गोचर आपके दैनिक खर्च को बढ़ाएगा और विदेश यात्रा पर खर्च करवाएगा.
उपाय- भगवान लक्ष्मी नारायण को तुलसी और सफेद मिष्ठान का भोग लगाएं तो सर्व कार्य सिद्ध होंगे.

कर्क- इस राशि से एकादश भाव में शुक्र का गोचर आपके रुके हुए धन की प्राप्ति कराएगा. इस दौरान शेयर मार्केट से भी आपको लाभ हो सकता है लेकिन सोच समझकर ही निवेश करें.
उपाय- शुक्रवार के दिन शाम के समय छोटी कन्याओं को साबूदाने की खीर अवश्य खिलाएं.

सिंह- इस राशि से दशम भाव में शुक्र का गोचर आपके पिता की स्थिति आपके मान सम्मान आपके रुतबे को बढ़ाएगा किसी महिला मित्र का साथ भी मिलेगा.
उपाय-  शुक्रवार के दिन शाम के समय सुहागन स्त्रियों का आशीर्वाद लें और उन्हें कुछ दक्षिणा दें.

कन्या- इस राशि से नवम भाव में शुक्र का गोचर आपके भाग्य भाव में वृद्धि करेगा. अपने धर्म व गुरु के प्रति आदर भाव बढेगा.  इस दौरान लंबी यात्रा का अवसर भी मिलेगा.
उपाय- शुक्र के मंत्र का ॐ शुं शुक्राय नमः  मंत्र का एक माला हर रोज जाप करें तथा बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लें.

तुला-इस राशि से अष्टम भाव में शुक्र का गोचर अचानक चोट लगवाने के साथ-साथ धन की प्राप्ति भी करवा सकता है. इस दौरान यात्रा के समय सावधानी बरतें.
उपाय छोटी कन्याओं को हो सके तो लेखन सामग्री का दान करें तथा माता समान स्त्रियों के चरण स्पर्श करें.

वृश्चिक- इस राशि से सप्तम भाव में शुक्र का गोचर आपके दांपत्य जीवन की खटास को कम करेगा तथा आपसी वाद-विवाद कम होंगे.
उपाय-  सात मुट्ठी सफेद चावल भगवान शिवलिंग अर्पण करें  तथा नमः शिवाय मंत्र का 108 बार जाप करें.

धनु- इस राशि से छठे भाव में शुक्र का गोचर  आपके मानसिक तनाव को बढ़ाने के साथ-साथ शत्रुओं को भी बढ़ा सकता है. सावधानी के साथ ही सारे कार्य करें.
उपाय- शुक्रवार के दिन सुबह के समय लक्ष्मी नारायण मंदिर में मिश्री और तुलसी का भोग अर्पण करें.

मकर- राशि से पंचम भाव में शुक्र का गोचर आपके प्रेम संबंधों को सफल  बनाएगा तथा  पेट संबंधी बीमारियां खत्म होगी. शिक्षा में भी आप सफल रहेंगे.
उपाय-  शुक्रवार के दिन अपनी पत्नी के साथ कहीं घूमने जाएं और हो सके तो सुहागन स्त्रियों को गुलाबी वस्त्र दान करें.

कुंभ- इस  राशि से चतुर्थ भाव में शुक्र का गोचर आपके घर की और मन की परेशानियों को खत्म करेगा तथा नया वाहन और प्रॉपर्टी खरीदने का योग बनेगा.
उपाय- शुक्र के 108  मंत्रों का जाप करें शाम के समय खीर का भोजन करें.