Loading...

समर नाइट मेला: शास्त्रीय संगीत और नृत्य के साथ फ्यूजन ने शमा बांध दिया | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण की ओर से आयोजित किए जा रहे समर नाइट मेले में कुछ खास रही। मंद-मंद हवा के झौकों के साथ ही शास्त्रीय संगीत और नृत्य की बयार भी बही। राजा मानसिंह संगीत एवं कला विश्वविद्यालय की छात्राओं (Raja Man Singh music and arts university students) ने शास्त्रीय संगीत और नृत्य के साथ ही फ्यूजन के संगम से ऐसा समां बांधा की सैलानी नृत्य से झंकृत होकर मंत्रगुग्ध हो गए। कार्यक्रम का संचालन कु. संदीप तिवारी ने किया। 

सौम्या ने दिखाया द्रोपदी चीर हरण 

कत्थक नृत्यांगना सौम्या मिश्रा ने शिव वंदना के साथ अपनी पहली प्रस्तुति दी। उन्होंने सामूहिक नृत्य के माध्यम से शिव की भक्ति को टोड़े और टुकड़े भाव के साथ प्रस्तुत किया। उन्होंने द्रोपदी चीर हरण के माध्यम से भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति की महिमा का मनमोहक वर्णन कर सैलानियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। अंत में तराना सोलह मात्रा और सोलह चक्कर के साथ समापन किया। उनके साथ जरूरतमंद परिवारों की बेटियों ने पहली बार मंच साझा कर नृत्य किया। 

सृष्टि ने ताल, शीना ने प्रस्तुत किया तराना 

सृष्टि पाठक ने गणेश स्तुति के साथ बसंत बहार ताल में दीम त न न न ... की प्रस्तुति से जमकर तालियां बटोरीं। शीना बाजपेयी ने विघनेशम.... गणेश वंदना के साथ दीम तान देरे तान दारे दानी ..... तराना पर पारंपरिक बंदिशे पेश कर बेहतरीन नृत्य से फिजा में कत्थक की रंगत पैदा कर दी। 

युगल नृत्य का संगम 

सृष्टि और शीना ने एकल नृत्य की प्रस्तुति के बाद म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट पर शानदार और आकर्षक नृत्य से कार्यक्रम को भव्यता प्रदान की। 

खुशबू ने बिखेरे फ्यूजन के रंग 

खूशबू मेहरा ने विक्रम भोज द्वारा रचित फ्यूजन पर शास्त्रीय संगीत और नृत्य की सामूहिक प्रस्तुति से नृत्य के अनेक रंग बिखेर दिए। उन्होंने अपनी एकल प्रस्तुति से भी खासा प्रभावित किया।