CHIT FUND COMPANIES के फरार संचालकों / अधिकारियों का गिरफ्तारी अभियान | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। ग्वालियर जिले में लगातार सामने आ रहे धोखाधड़ी व ठगी के मामले तथा पूर्व के लंबित मामलों में फरार आरोपियों की तलाश कर उनकी शीघ्र गिरफ्तारी कर मामलों के निराकरण करने के लिए पुलिस अधीक्षक ग्वालियर नवनीत भसीन द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक, अपराध एवं शहर-मध्य पंकज पाण्डेय के नेतृत्व में ठगी व धोखाधड़ी के मामलो के शीघ्र निराकरण हेतू विवेचना प्लान तैयार करने के लिए एक टीम का गठन किया गया।

जिले में लगातार सामने आ रहे धोखाधड़ी व ठगी के मामलों को पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने गंभीरता से लेते हुए उनके शीघ्र निराकरण हेतू विवेचना प्लान तैयार करने के लिए स्पेशल टीम का गठन किया। इस टीम मे उप पुलिस अधीक्षक ग्वालियर नागेन्द्र सिंह सिंकरवार, सुश्री आकांक्षा परस्ते, सुश्री किरण अहिरवार, सुश्री रितु उपध्याय के साथ-साथ प्रकरणों के त्वरित निकाल हेतु सहायक लोक अभियोजन अधिकारी संतोष शर्मा (ADPO) मनीष शर्मा (ADPO) को भी सम्मिलित किया गया है। पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने टीम हेतु पुलिस अफसरों एवं सहायक लोक अभियोजन अधिकारियों का चयन कर कार्यालय में उनकी बैठक लेकर प्रकरण की विवेचना प्लान तैयार करने के निर्देष दिये। उक्त विवेचना प्लान के अनुसार ही विवेचना करते हुए प्रकरण का निराकरण थाना प्रभारी व विवेचक द्वारा किया जायेगा। इस संर्पूण कार्यवाही की समीक्षा 15 दिवस मे पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा की जावेगी साथ ही प्रकरणो के निराकरण मे ढिलाई बरतने वाले थाना प्रभारी एवं विवेचको के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।

पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने कहा कि धोखाधड़ी व ठगी के प्रकरणों मे फरार आरोपियों की आयकर डिटेल्स, बैंक डिटेल्स, प्रापर्टी प्रोफाइल एवं फैमिली प्रोफाइल बनाकर कार्यवाही करें। 420 व चिटफंड के लंबित केसों में फरार आरोपियों पर पुलिस महानिरीक्षक तथा पुलिस अधीक्षक के माध्यम से इनाम की घोषणा करवाने व समाचार पत्रों में प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। धारा 82, 83 के तहत उनकी चल-अचल संपत्ति की जानकारी लेकर, सपंत्ति अटैच करने हेतु भी निर्देषित किया। पुलिस अधीक्षक ग्वालियर ने यही भी कहा कि फरार आरोपियों के फोटो मीडिया के माध्यम से न्यूज चैनलों एव समाचार पत्रों मे प्रकाशित व प्रसारित किया जाए।