Loading...

मतगणना: चुनाव आयोग के नवीन निर्देश | NEW GUIDELINES OF ELECTION COMMISSION

भोपाल। लोकसभा चुनाव की मतगणना सुबह 8 बजे से प्रारंभ होगी। भारत निर्वाचन आयोग के नवीनतम निर्देशों के अनुसार जिस मतगणना कक्ष में डाकमत पत्रों की गणना होगी केवल उसी कक्ष में ईव्हीएम में दर्ज मतों की गणना डाकमत पत्रों की गणना प्रारंभ होने के आधा घंटे बाद प्रारंभ की जायेगी।  

आयोग के इस निर्देश के मुताबिक शेष मतगणना कक्षों में ईव्हीएम की मतगणना प्रारंभ करने के लिए आधा घंटे प्रतीक्षा नहीं की जायेगी अर्थात डाकमत पत्रों की गणना वाले कक्ष को छोड़कर शेष मतगणना कक्षों में ईव्हीएम के मतों की गणना निर्धारित समय सुबह 8 बजे से प्रारंभ की जायेगी। 

प्रदेश में 311 कक्ष में होगी मतगणना 
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ता राव ने बताया है कि लोकसभा निर्वाचन-2019 में 51 जिला मुख्यालय पर बनाये गये 51 मतगणना स्थलों पर कुल 292 मतगणना कक्षों में मतगणना  होगी।  मतगणना स्थलों पर अधिक डाक मतपत्र होने के कारण उनकी गणना के लिये आयोग से अनुमोदन के बाद अलग से 19 कक्ष बनाये गये हैं। ईवीएम मतों की मतगणना के लिये प्रदेश में कुल 292 कक्ष बनाये गये हैं। इनमें से 124 कक्ष में 7 टेबल, 164 कक्ष में 14 टेबल एवं 4 कक्ष में 21 टेबल (कटनी जिले में) लगाई गई हैं। पोस्टल बैलेट की गणना के लिये बनाये 19 मतगणना कक्ष सहित कुल 311 कक्षों में कुल 3 हजार 409 टेबल लगाई गई हैं।