Loading...

शिवराज सिंह चौहान: राजनीति से सन्यास की सशर्त घोषणा | MP NEWS

इंदौर। पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ को चुनौती देते हुए कहा है कि यदि कांग्रेस ने वचन पत्र में किए गए वायदों में से 83 वचन पूरे कर दिए हों तो शिवराज सिंह राजनीति से संन्यास ले लेगा और यदि कांग्रेस झूठ बोल रही है और अपने वचन पूरे नहीं किए तो कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री इंदौर में पार्टी प्रत्याशी शंकर लालवानी के समर्थन में रोड शो को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की जनता के सामने झूठ का पुलिंदा खोला है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ कह रहे हैं कि हमने किसानों का कर्जामाफ कर दिया है, युवाओं को रोजगार दे दिया है, किसानों का चना, गेहूं खरीदा है, 24 घंटे बिजली दे रहे हैं, पेंशन बढ़ाकर एक हजार रूपए कर दी है, किसानों को खेतों के लिए सस्ती बिजली दे रहे हैं। इस तरह से इन्होंने 83 वचन पूरे करने की बातें की हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने इंदौर के रोड शो में उपस्थित जनसमूह से पूछा कि इनमें से कितने वादे पूरे किए तो लोगों ने कहा कि एक भी वचन पूरा नहीं हुआ है। सब परेशान हैं।

झूठ का पुलिंदा है वचन पत्र
पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के वचन पत्र को झूठ का पुलिंदा बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लगातार प्रदेश की जनता से झूठ बोला है। इन्होंने प्रदेश के कर्मचारियों को भी झूठे आश्वासन दिए। उन्होंने कहा कि हमने इंदौर को देश में नंबर वन लाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। कमलनाथ ने सफाई कर्मचारियों को पांच हजार रूपए देने का वादा किया, लेकिन नहीं दिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सामान्य वर्ग के लिए नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण शुरू किया, लेकिन मध्यप्रदेश में युवाओं को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। कमलनाथ ने मध्यप्रदेश में आरक्षण में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। अब उन्हीं युवाओं से वोट मांग रहे हैं।

मेरी खुली चुनौती है, चैन से नहीं रहने दूंगा
पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि यदि इन्होंने प्रदेश की जनता से किए गए वादे पूरे नहीं किए तो मैं इन्हें चैन से नहीं बैठने दूंगा। इनकी ईंट से ईंट बजा दूंगा। उन्होंने कहा कि हमने मध्यप्रदेश को अंधेरे प्रदेश से बाहर निकालकर उजाला फैलाया, लेकिन अब कांग्रेस फिर से मध्यप्रदेश को अंधेरे में ले जाने का काम कर रही है। पहले मिस्टर बंटाढार थे, लेकिन अब उनके बड़े भाई आ गए हैं। इनके राज्य में इनके नेताओं के घरों से करोड़ों रूपए निकल रहे हैं। इनकम टैक्स के छापों में काली कमाई बाहर आ रही है। इन्होंने प्रदेश के विकास कार्य तो पूरी तरह से ठप्प कर दिए हैं, लेकिन इनकी कमाई चालू है। रोड शो सराफा बाजार से शुरू होकर शहर के विभिन्न मार्गोंं में गया। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का उपस्थित जनसमूह ने जमकर स्वागत-सत्कार किया। जगह-जगह स्वागत स्टेज भी बनाए गए, जहां पर फूल-माला से उनका स्वागत हुआ। इस दौरान मामा-मामा के नारे भी लगते रहे।