Loading...

अपडाउन करने वाले शिक्षकों को HRA नहीं दिया जाएगा: कलेक्टर | HOSHNAGABAD MP NEWS

होशंगाबाद। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में साप्ताहिक समयसीमा बैठक कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि शिक्षकों के मुख्यालय पर न रहने के कारण शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है। उन्होंने जिला परियोजना समन्वयक, जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को निर्देशित किया कि जो शिक्षक अपने मुख्यालय पर निवास नही कर रहे हैं उन्हें गृह भाड़ा भत्ता (एचआरए) न दिया जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे शिक्षको के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जायेगी। 

पंच परमेश्वर के बजट से स्कूलों की बाउण्ड्रीवॉल बनाएं

बैठक में श्री सिंह ने सभी सीईओ जनपद को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायतों को पंच परमेश्वर योजना के अंतर्गत प्राप्त राशि का उपयोग प्राथमिकता से सभी शासकीय भवनों को पक्की सड़क से जोड़ने के लिए किया जाए। इसके बाद सभी शासकीय स्कूलों की बाउण्ड्रीवॉल अनिवार्य रूप से बनाई जाए। उन्होंने कहा कि ये कार्य पूर्ण होने के बाद ही पंच परमेश्वर की राशि का उपयोग अन्य जगहों पर करें। इन निर्देशो का पालन न होने पर संबंधित सीईओ जनपद एवं ग्राम पंचायत सचिव के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जिले के सभी अस्पतालों में साफ-सफाई व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिये। 

इटारसी अस्पताल अधीक्षक को नोटिस 

उन्होंने गत दिवस डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी अस्पताल इटारसी के निरीक्षण के दौरान पाई गई अव्यवस्थाओं के संबंध में अस्पताल अधीक्षक को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने समस्त एसडीएम को अपने क्षेत्रो के अस्पतालों का निरन्तर निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कृषि विभाग से आगामी खरीफ मौसम के लिए खाद एवं बीज की उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में खाद एवं बीज उपलब्ध है। 

स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता हेतु कार्य योजना मांगी 

कलेक्टर श्री सिंह ने जिला शिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास एवं जिला परियोजना समन्वयक को स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के संबंध में कार्य योजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने सीएम हैल्प लाइन में लंबित शिकायतों की समीक्षा करते हुए एल 3 एवं एल 4 पर लंबित शिकायतों के निराकरण के लिए प्रतिवेदन भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी शिकायतों का गुणवत्ता पूर्ण निराकरण पर ध्यान दें। 

शिकायतों का निराकरण तत्काल करें

उन्होंने राजस्व विभाग तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग में लंबित शिकायतों की तहसीलवार तथा जनपदवार समीक्षा कर त्वरित निराकरण के निर्देश दिए। उन्होंने सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दुकानदारों द्वारा सड़को पर सामान रखकर किये जाने वाले अतिक्रमण को हटाने के निर्देश दिए। कलेक्टर द्वारा अधिकारियों को मार्क किये गये समयसीमा पत्रो की समीक्षा की गई। बैठक में अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी, जिला पंचायत सीईओ सुजान सिंह रावत, समस्त एसडीएम एवं अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।