Loading...

सुबह फजर की नमाज अदा की फिर फांसी लगा ली | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। सुबह फजर की नमाज अदा की। घर का पूरा पानी भरा, इसके बाद अपने कमरे में गया और फांसी लगा ली। जब परिजन की नजर उस पर पड़ी तो फंदे से उतारकर अस्पताल (HOSPITAL) ले गए, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। अस्पताल में उसे मृत घोषित कर दिया। घटना गेंड़े वाली सड़क स्थित गोल इलाके की है। 20 दिन पहले मृतक का स्कूटर घर के सामने से चोरी हो गया था। बताया गया है कि स्कूटर की डिक्की में 8 लाख रुपए रखे थे, इससे वह तनाव में था। पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर मर्ग कायम कर लिया है।

इंदरगंज थानाक्षेत्र स्थित गेंड़े वाली सड़क गोल निवासी शाबिर (Shabir Khan) पुत्र गुलाब खान (Gulab Khan) सोसायटी चलाता था। साथ ही ब्याज पर भी पैसा उठाता था। परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां भी हैं। अभी रमजान के दिन चल रहे हैं और शाबिर ने रोजे भी रख रहे थे। शनिवार सुबह वह आम दिनों की तरह नींद से जागा। नहाने के बाद सुबह 4.20 बजे के लगभग फजर की नमाज अदा की। इसके बाद घर का पानी भरा। पानी भरने के बाद वह अपने कमरे में गया और दुपट्टे से फंदा बनाकर फांसी लगा ली। कुछ देर बाद जब परिजन कमरे में पहुंचे तो घटना का पता लगा। तत्काल शोर मचाया और फंदे से उतारकर जेएएच लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर इंदरगंज थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम कराया। साथ ही मर्ग कायम कर घटना की जांच शुरू कर दी है।

परिजन से इतना पता लगा है कि 20 दिन पहले घर के सामने रखा उनका स्कूटर चोरी हो गया था। डिक्की में एक सोसायटी के 8 लाख रुपए रखे होना बताया गया था। तभी से वह परेशान थे। पर घर पर उन्होंने एक लाख रुपए ही बताए थे। पुलिस को आशंका है कि हो सकता है जिसके रुपए थे वह परेशान कर रहा होगा। इससे उन्होंने यह कदम उठाया।

पुलिस ने मृतक के मोबाइल को निगरानी में लिया है। पुलिस को आशंका है कि सुबह शाबिर के यह कदम उठाने से पहले किसी से मोबाइल पर बात हुई होगी। किसी ने धमकाया हो। ऐसे में मोबाइल की कॉल डिटेल से भी कई राज खुल सकते हैं।