Loading...

21 हजार अध्यापकों के एंप्लॉयी कोड जारी | MP NEWS

भोपाल। आयुक्त जन जातीय कार्य विभाग द्वारा प्रदेश के ट्रायवल विभाग में अध्यापक से प्राथमिक माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर नियुक्त हुए कर्मचारियों के गुरुवार को एंप्लॉयी कोड जारी कर दिए गये हैं। एंप्लॉयी कोड जारी हो जाने से इन शिक्षकों का वेतन ग्रांट की बजाय नियमित वेतन हेड से निकलने की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। 

प्रथम लाट में विभाग ने लगभग 21 हजार अध्यापक और नियुक्त शिक्षकों के एंप्लॉयी कोड जारी कर दिए हैं। एंप्लॉयी कोड उन अध्यापकों के भी जारी हुए हैं जिनका विभाग में शिक्षक पद पर नियुक्ति की कार्यवाही पूर्ण नहीं हुई है । राज्य अध्यापक संघ के जिला शाखा अध्यक्ष डी के सिंगौर और सचिव रवींद्र चौरसिया ने संयुक्त रूप से  बताया की यदि सभी संकुल प्राचार्य और सभी बीईओ ने इस सरल सी प्रक्रिया में रुचि ली होती तो सभी अध्यापकों के एंप्लॉयी कोड जारी हो सकते थे। लगभग 700 अध्यापक ऐसे हैं जिनकी ई मेल आई डी गड़बड़ फीड होने के कारण एंप्लॉयी कोड जारी नहीं हुए। 

इसमें अध्यापकों को एक्टिव ई मेल आई डी की जानकारी देनी थी । कई अध्यापकों के बेंक खाता नम्बर गलत फीड होने के कारण भी एंप्लॉयी कोड जारी नहीं हो सके । जिन अध्यापकों के एनएसडीएल में प्रान खाता नॉन आई आर की श्रेणी में है उनका भी एंप्लॉयी कोड जारी नहीं हुआ है ऐसे अध्यापकों के प्रान खाते एनएसडीएल ने डी एक्टिवेट कर दिए हैं और जब तक ये खाता एक्टिवेट नहीं कराएंगे इनकी वेतन नहीं निकलेगी । 

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 89 विकास खंड में लगभग 50 हजार से ऊपर अध्यापक कार्यरत हैं जिनका एंप्लॉयी कोड जारी होना था जबकि 50प्रतिशत से भी कम अध्यापकों के एंप्लॉयी कोड जारी हो सके हैं यद्दपि जिले में संघ की सक्रियता के चलते अन्य जिलों से स्तिथि बेहतर है। बानगी  के तौर पर देखा जाए तो मोहगॉंव ब्लॉक में  कुल 296 अध्यापक हैं जिनमे से 250 अध्यापकों का डाटा एम पी टास पोर्टल में वेरिफाइ किया गया जिसमें 218 अध्यापकों के एंप्लॉयी कोड जारी हुए । नारायण गंज ब्लॉक में 318 अध्यापक हैं  जिनमे से 291 अध्यापकों के डाटा वेरिफाइ हुए जिनमे से 267 अध्यापकों  के एंप्लॉयी कोड जारी हुए।  

मण्‍डला ब्‍लाॅक में 771 पंजीकृत में 499 वेरिफाइ हुए और  434 के एम्‍पलाई कोड जारी हुए। बिछिया ब्लॉक में 306 के एंप्लॉयी कोड जारी हुए । मवई ब्लॉक में 439 में 435 अध्यापकों के डाटा वेरिफाइ हुए और 402 के एंप्लॉयी कोड जारी हुए ।  विभाग के अनुसार वेतन उन्ही अध्यापक और शिक्षकों का आहरित होगा जिनका एंप्लॉयी कोड जनरेट होगा । एंप्लॉयी कोड जारी होने के बाद अध्यापकों को वेतन हेड से नियमित रूप से मिलने लगेगा । 7वें वेतनमान का निर्धारण भी हो सकेगा । गृह भाड़ा भत्ता सहित अन्य भत्तो के लाभ भी मिल सकेगा । एन पीएस की राशि भी सीधे कोषालय से प्रतिमाह नियमित रूप से एनएसडीएल में जमा हो सकेगी। 

राज्य  अध्यापक संघ की जिला इकाई ने विभाग को पत्र लिखकर मांग की है कि जब आधे से  अधिक कर्मचारियों का एंप्लॉयी कोड जारी नहीं हुआ  है तो इस प्रक्रिया के पूर्ण होने में समय लग सकता है इसलिए अनुदान मद से आवंटन जारी कर वेतन भुगतान कराया जाए। राज्य अध्यापक संघ जिला शाखा अध्यक्ष डी के सिंगौर ने अपील की है  कि सभी अध्यापकों के एम पी टास पोर्टल से डाटा वेरिफाइ किये जाएं । जिनका डाटा वेरिफाइड है पर एंप्लॉयी कोड जारी नहीं हो पाए हैं उनका डाटा मिलान कर सुधार किया जाए । नॉन आई आर ए मामले में सी एस आर एफ फॉर्म भरवाया जाए ।