Loading...

राजीव गांधी आवास योजना 200 आवासों पर अपात्रों का कब्जा | JABALPUR NEWS

जबलपुर। लेमागार्डन में राजीव गांधी आवास योजना के तहत बनाए गए आवासों को फर्जी तरीके से अलॉट किए गए हैं। यह आरोप कांग्रेस पार्षदों ने लगाया है। कांग्रेस पार्षदों का आरोप है कि लेमागार्डन में गरीबों के लिए बनाए गए 436 आवासों में से 200 आवासों का निगम कर्मचारियों से साठगांठ कर असामाजिक तत्वों ने फर्जी तरीके से बंदरबांट कर दिया। जबकि यह आवास लेमागार्डन में रह रहे 310 पात्र गरीबों को अलॉट किए जाने थे। मंगलवार को नगर निगम नेता प्रतिपक्ष राजेश सोनकर, क्षेत्रीय पार्षद ताहिर अली ने लेमागार्डन के झुग्गीवासियों के साथ धरना प्रदर्शन किया। 

विस्थापित बताया

पार्षद ताहिर अली ने फर्जी तरीके से आवास अलॉट किए जाने के दस्तावेज दिखाते हुए बताया कि गरीबों के लिए बने आवास में ए 1 वन से लेकर डी 4 ब्लॉक तक निगम की फर्जी पर्चियों से अपात्रों को कब्जा दिलाया गया है। पर्चियों में जिन्हें कठौंदा और मदनमहल का विस्थापित बताकर आवास का कब्जा दिलाया गया है। उनकी समग्रआईडी, आधार कार्ड अधारताल, शंकरशाह की है। ऐसे करीब 80 लोगों के दस्तावेज उनके पास हैं।

नेता प्रतिपक्ष राजेश सोनकर, पार्षद ताहिरअली, आजम अली, राजू लईक, शफीक हिना का आरोप है नया मोहल्ला निवासी जैकी और आरिफ कबाड़ी ने अपात्रों से एक से डेढ़ लाख रुपए लेकर आवास वितरण की फर्जी पर्चियां देकर अपात्रों को आवासों का कब्जा दिला दिया। जिसकी शिकायत एसपी, नगर निगम कमिश्नर को ज्ञापन सौंपकर की गई है। प्रदर्शन में गुलाम हुसैन, गुड्डू नबी, नरेन्द्र पटेल, इरफान अंसारी, शकील अंसारी, दिलशाद, फारुख नीरज पटेल सहित लेमागार्डन से विस्थापित किए गए 310 झुग्गीवासी मौजूद रहे।