सरकार ने LIC एजेंटों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा कर दिया: दिग्विजय सिंह | BHOPAL NEWS

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने कहा है कि आज मोदी सरकार ने एलआईसी एजेंटों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा कर दिया है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि कांगे्रस सरकार बनने पर मुझसे जो भी बनेगा वह मैं करूंगा। एलआईसी एजेंटों का जो वेज रिवीजन अटका पड़ा है, उस पर भी सरकार बनने पर चर्चा करूंगा।

श्री सिंह आज यहां प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सभागार में एलआईसी भोपाल मंडल के बीमा एजेंटों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं हमेशा से एलआईसी सहित सभी पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग (पीएसयू) का पक्षधर हूं कि वे अच्छे ढंग से चलें और जनता की सेवा करें। उन्होंने एजेंटों से आग्रह किया कि वे एलआईसी के भोपाल डिवीजन में जहां-जहां रह रहे हैं, वहां-वहां के पोलिंग बूथ पर जाकर जनता को सच्चाई बतायें और कांगे्रस को जिताने का काम करें। कांगे्रस कार्यकर्ता भी आपके संपर्क में रहेंगे।

एलआईसी एजेंट संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवीशंकर शुक्ला ने कहा कि एलआईसी के भोपाल संभाग में नौ शाखाऐं हैं। इनमें से दो सैटेलाइट शाखाऐं हैं। इसमें साढ़े चार हजार बीमा एजेंट हैं और 10 लाख पाॅलिसी होल्डर हैं। पिछले लंबे समय से एलआईसी की हालत केंद्र सरकार ने दयनीय कर दी है। देश में 28 करोड़ बीमाधारकों के हित के सवाल पीछे छूटते जा रहे हैं। सभी कर्मचारियों की गे्रच्युटी सीमा 20 लाख रूपये हैं, लेकिन एजेंट तीन लाख पर ही बैठे हैं। पीएफ हमारे कमीशन से काटा जा सकता है। हम लोग तोप जरूर नहीं चलाते हैं, लेकिन तोप खरीदने के लिये एलआईसी ने ही पैसा दिया है।

शुक्ला ने कहा कि हम एजेंटों का समाज में व्यापक जनाधार है। जनता से हमारे दिलों के संबंध होते हैं। नेहरू जी ने देश की 395 बीमा कंपनियों को एक कर एलआईसी बनायी और चार जनरल एश्योरेंस कंपनियां भी बनाई जो आज करोड़ों भारतवासियों की मदद का काम कर रही है।

भोपाल संभाग के अध्यक्ष गंगा सागर यादव ने कहा कि एलआईसी को बचाने के लिये कोशिश करने का दिग्विजयसिंह ने हम सभी को भरोसा दिलाया है। उन्होंने श्री सिंह से कहा कि आप भी हम सभी पर विश्वास रखें हम सभी लोग मिलकर कांगे्रस को जिताने का काम करेंगे। इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह और कार्यक्रम के संयोजक बिसाहूलाल सिंह के सुपुत्र ओमप्रकाश सिंह भी उपस्थित थे।