MP NEWS / मेरी सरकार और कमलनाथ सरकार में फर्क नजर आ रहा है कि नहीं: शिवराज सिंह चौहान

भोपाल।  सागर में आयोजित पालक-संयोजक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं से बड़ा झुठेला कोई नहीं है। उन्होंने कर्ज माफ करने की बात कही थी, कर्ज माफ हुआ क्या? उन्होंने पूछा कि हमारी सरकार और इनकी सरकार में फर्क नजर आ रहा है कि नहीं। बताओ, इस सरकार ने धान खरीदी क्या, सोयाबीन पैसे दिए क्या। अपनी जेब से देना तो दूर, ये केंद्र की योजना का पैसा भी किसानों को नहीं मिलने दे रही है। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने किसान सम्मान निधि के माध्यम से हर किसान को 6 हजार रुपए देने का फैसला किया। लेकिन प्रदेश की सरकार ने किसानों की सूची ही केंद्र को नहीं भेजी। इस सरकार को डर था कि किसानों के खाते में पैसे आने पर कहीं मोदी जी का नाम न हो जाए। श्री चौहान ने कहा कि ये कर्जमाफी के नाम पर रंग बिरंगे फार्म भरवा रहे हैं। सोसायटी वालों से कह रहे हैं कि आधा पैसा तुम दो। श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार के इस कृत्य के लिए हम उसके खिलाफ निंदा प्रस्ताव पास करते हैं, इस सरकार को धिक्कार है। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में उपस्थित पालक-संयोजकों से पूछा कि इस सरकार ने नौजवानों को बेरोजगारी भत्ता दिया क्या, किसानों को ओले-पाले का मुआवजा दिया क्या। मुख्यमंत्री कमलनाथ या उनका कोई मंत्री किसानों का नुकसान देखने खेतों में गया क्या। उन्होंने कहा कि बहनो-भाइयो विधानसभा चुनाव में जो चूक हुई है, ये चूक फिर न हो जाए। आप प्रधानमंत्री उन्हें बनाएं जिन्होंने देश का मान सम्मान बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने संकल्प लिया है कि देश नहीं झुकने दूंगा, देश नहीं मिटने दूंगा। उनके नेतृत्व में एक नये भारत का उदय हो रहा है।