LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




ADHYAPAK का अनोखा आंदोलन, CM HELPLINE को जाम किया | MP NEWS

06 March 2019

देवास। 6वें वेतनमान के एरियर के लिए 1 साल से इंतजार कर रहे अध्यापकों ने अनूठा आंदोलन किया। उन्होंने कुछ देर के लिए सीएम हेल्पलाइन को जाम कर दिया। उन्होंने एक साथ सीएम हेल्पलाइन पर फोन लगाना शुरू किया और शिकायतें दर्ज कराईं। एक साथ सैंकड़ों शिकायतें दर्ज की गईं। इसके कारण सीएम हेल्पलाइन जाम बनी रही। 

बता दें कि भाजपा सरकार ने अध्यापकों को छठे वेतनमान का लाभ देकर एरियर की राशि तीन किश्तों में देने का निर्णय लिया था। इसके तहत प्रदेश सहित पूरे जिले में बागली विकासखंड को छोड़कर एरियर की पहली किश्त अध्यापकों को जारी कर दी गई है लेकिन बागली ब्लॉक के सैकड़ों अध्यापकों को पहली किश्त जारी करने की नियत तारीख 30 अप्रैल 2018 से लगाकर आज तक पहली किश्त का ही भुगतान नहीं किया गया है। जबकि दूसरी जगह दूसरी किश्त की तैयारी है। 

सचिवालय से जारी पत्र में स्पष्ट निर्देश हैं कि समय-सीमा में अध्यापकों के एरियर की किश्तों का भुगतान न करने वाले जवाबदारों का वेतन भुगतान रोका जाए। ब्लाॅक के अध्यापकों ने कई बार जवाबदारों से लिखित व मौखिक निवेदन किया लेकिन जिले एवं ब्लॉक के अधिकारियों की लापरवाही से एरियर का भुगतान नहीं हो पाया है। नाराज अध्यापकों ने महाशिवरात्रि पर पूरे ब्लाॅक से अलग-अलग स्थानों से एक ही शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर एरियर न मिलने की कर जिम्मेदारों पर कार्रवाई व शीघ्र भुगतान करवाने का निवेदन किया है। देवास जिले का यह पहला मामला है कि एक ही संदर्भ में एक ही दिन में एक साथ इतनी शिकायत दर्ज की गई हैं। 

एरियर मिलने तक रोज सीएम हेल्पलाइन को जाम करेंगे

आजाद अध्यापक संघ के प्रांतीय प्रवक्ता वारिस अली, प्रांतीय सचिव राकेश नागौरी, संभागीय उपाध्यक्ष अनिल राठौर, ब्लाॅक अध्यक्ष प्रहलाद चावड़ा, ब्लॉक प्रभारी देवेंद्रसिंह बैस, तहसील अध्यक्ष महेन्द्र सैंधव, पुष्पेन्द्रसिंह राणा, राकेश कन्नौजे, ब्लाॅक सचिव कीर्ति पंचौली आदि ने बताया कि जब तक खाते में राशि नहीं आ जाती तब तक यह क्रम जारी रहेगा। अध्यापकों ने इसे जिले से संकुल तक की मिलीभगत बताते हुए कलेक्टर से उचित कार्रवाई की मांग की है। 



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->