MP NEWS: संविदा गुहार महाकुंभ का प्रतिवेदन

Advertisement

MP NEWS: संविदा गुहार महाकुंभ का प्रतिवेदन


भोपाल। 19 फरवरी को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार संविदा गुहार महाकुंभ " का आयोजन शाहजनी पार्क भोपाल में किया गया। सुबह 11 बजे से प्रारंभ इस कार्यक्रम में प्रदेश भर के लगभग 50 हजार संविदा साथी मौजूद रहे।‌ महाकुंभ में लगभग 2.30 बजे प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री श्री ओंकार सिंह मरकाम, विधायक श्री सुनील उइके और कांग्रेस प्रवक्ता श्री सैयद जफर माननीय मुख्यमंत्री जी के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित हुए।

कागेस प्रवक्ता श्री जफर ने अपने उद्बोधन मैं विश्वास दिलाया कि मुख्यमंत्री जी संविदा बालो के हित के लिए चिंतित हैं और बहुत जल्दी नियमितीकरण और निष्कासित साथियों की बहाली की जाएगी।‌ उन्होंने विश्वास दिलाया कि लोकसभा चुनाव की आचार संहिता से पहले ही सबकी संतुष्टि दायक आदेश जारी होंगे। उन्होंने कहा कि सीएम कमलनाथ जी कहने पर नहीं करने पर ही विश्वास करते हैं। विधायक श्री उइके ने भी अपने उद्बोधन में यही विश्वास दिलाया। उन्हें हल्के फुल्के मजाकिया लहजे में कहा कि नयी बहु से तुरत फुरत खाना नहीं बनवाया जाता। इसी तरह थोड़ा इंतजार करें, सभी मांगे मुख्यमंत्री जी पूरी करेंगे।

कैबिनेट मंत्री श्री ओंकार सिंह मरकाम ने अपने आधे घंटे के लंबे भाषण में सभी संविदा साथियों को नियमितिकरण और निष्कासित साथियों की बहाली का विश्वास तो जताया पर, संविदा साथियों की टोका-टोकी पर भी वे इसके लिए कोई समय सीमा बताने से परहेज़ करते नजर आए। हालांकि, उन्होंने कहा कि वो संविदा बालों की समस्याओं के निराकरण के लिए बनाई कमेटी में है और वहां वो अपनी बात मंत्री के रूप में नहीं आपके साथी के रूप में रखेंगे। उन्होंने कहा कि वो जरूर मंत्री बन गये पर उनके बहुत से साथी और मित्र आज भी संविदा में है । इसलिए सभी का भला करना उनका दायित्व है।

इससे पहले अखिल भारतीय संविदा कर्मचारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष अजय तिवारी ने मंच से अपनी मांगे रखी। उल्लेखनीय है कि कार्यक्रम में मंच को अतिथियों के लिए खाली रखा* *गया था और प्रदेश सरकार के प्रतिनिधियों के आने से पहले तक संविदा वालों का कोई नेता मंच पर नहीं बैठा। सभी नीचे ही रहकर सभी के बीच कार्यक्रम संचालित करते रहे। 

आज के इस संविदा महाकुंभ से यह स्पष्ट हो गया है कि संविदा बाले अब आश्वासन और घोषणाओं से संतुष्ट नहीं होने बाले। उन्हें स्पष्ट आदेश ही चाहिए। सरकारी प्रतिनिधि मंत्री-विधायक -प्रवकता की उपस्थिति में जिस तरह संविदा बालों ने अपनी गुहार लगाई उससे सरकार का चौकन्ना होना स्वाभाविक लगता है।

प्रदेश अध्यक्ष अजय तिवारी ने कहा है कि हम एक सप्ताह तक सरकार से अपने हित में आदेश का इंतजार करेंगे। इसके बाद सभी साथियों से विचार विमर्श के बाद अगले कदम के बारे में निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम विधानसभा चुनाव से पहले से इस सरकार के घोषित हितैषी है और आज भी सरकार का हित चाहतें हैं इसलिए सरकार को हमें अपना मानना चाहिए और हमारी वाजिब मांगे मान लेनी चाहिए।