Loading...

सरकार शराब पिलाती है तो फिर ड्रिंक एंड ड्राइव का चालान क्यों बनाती है: मंत्री पटवारी | MP NEWS

इंदौर। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने आबकारी और ट्रैफिक के कानून को लेकर अपनी ही सरकार पर सवाल उठा दिए। सोमवार को DRP लाइन मैदान में सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत करते हुए पटवारी ने कहा कि दोनों कानून में सुधार होना चाहिए। 

हाल ही में वाणिज्यकर मंत्री ब्रजेंद्र सिंह इंदौर में शराब अहाते वैध करने की बात कह चुके हैं। ताकि राजस्व बढ़े। प्रदेश सरकार इसी महीने नई आबकारी नीति भी लाने जा रही है। इसमें शराब अहातों को वैध किए जाने का प्रस्ताव शामिल होगा। इसके अलावा हर जिले में ऐसी दुकानों को चिह्नित किया जाएगा, जहां स्थायी तौर पर शराब की बिक्री होगी। वहां अहाते भी होंगे। दरअसल, नई शराब नीति के पीछे सरकार की मंशा राजस्व बढ़ाने की है।

बता दें कि मध्यप्रदेश में शराब बंदी की मांग लम्बे समय से उठती रही है परंतु कांग्रेस की पूर्व दिग्विजय सिंह सरकार के समय इसे सिरे से खारिज कर दिया गया था। भाजपा सरकार ने शराब बंदी का ऐलान किया था परंतु 15 सालों में वो शराब बंदी क्या शराब की बिक्री भी कम नहीं कर पाई। अब कमलनाथ सरकार शराब की बिक्री बढ़ाने की दिशा में काम कर रही है।