दिग्विजय सिंह ने कश्मीर में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की अपील की | MP NEWS

भोपाल। पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के आतंकी हमले को लेकर दिए गए बयान पर नेताओं की प्रतिक्रियाओं और आलोचनाओं का दौर जारी है। इसी बीच मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को सलाह दे दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि 'नवजोत सिंह सिद्धू जी अपने दोस्त को समझाइए, उसकी वजह से आपको गाली पड़ रही है।'

दिग्विजय सिंह ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं। इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने गंभीरता से आत्मनिरीक्षण करने की भी सलाह दे डाली है। दिग्विजय ने यह भी लिखा कि हम सभी को दोषी ठहराया जाएगा। क्या हम कुछ समय के लिए अपने राजनीतिक मतभेदों को मिटा सकते हैं और जम्मू और कश्मीर में सांप्रदायिक सद्भाव और कश्मीरी मुस्लिम और कश्मीरी हिंदू भाईचारे को वापस लाने के लिए एक साथ आ सकते हैं।

दिग्विजय ने लिखा कि ऐसा हम कर सकते हैं। उन्होंने सलाह दी कि जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस, बीजेपी पीडीपी और अन्य राजनीतिक दलों को अगले 10 वर्षों तक रोड मैप तैयार करना चाहिए. इसके बाद दिग्विजय सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू का जिक्र किया। बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि इस हमले का दोष पूरे देश पर नहीं मढ़ सकते हैं। उन्होंने अपने बयान में कहा था 'आप इस हमले का दोष पूरे देश पर नहीं मढ़ सकते हैं। पूरे देश या किसी एक को इसका दोष देना ठीक नहीं है।' लोगों ने सिद्धू के इस बयान को पाकिस्तान की तरफदारी के तौर पर ले लिया और सोशल मीडिया पर बवाल हो गया। इसके बाद भी सिद्धू अपने बयान पर अड़े रहे।

गौरतलब है कि 14 फरवरी यानी गुरुवार को पुलवामा में ही सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे और कई अन्य घायल हुए थे। इस घटना के बाद सेना और सुरक्षाबल एक्शन में हैं। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। पाकिस्तानी संगठन की तरफ से हमले की जिम्मेदारी लेने के बाद भारत ने पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग करने की कोशिशें तेज कर दी हैं।