PARAS VIDYA VIHAR: 4 साल की मासूम छात्रा का यौन उत्पीड़न | CRIME NEWS

05 December 2018

सागर। PARAS VIDYA VIHAR SCHOOL SAGAR दावा करता है कि उसके यहां स्टूडेंट्स सबसे ज्यादा सुरक्षित और सुविधापूर्ण माहौल में पढ़ते हैं परंतु स्कूल में मात्र 4 साल की मासूम छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। आरोप है कि स्कूल का चपरासी बाथरूम में छेड़खानी करता था। बुधवार को पीड़िता के परिजनों के साथ अन्य अभिभावकों ने स्कूल परिसर में जमकर हंगामा किया, तब जाकर आरोपी को पुलिस के हवाले किया गया। उसके खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। आरोपी का बेटा भी इसी स्कूल में पढ़ता है। 

जानकारी के अनुसार स्कूल का प्यून देवकीनंदन उर्फ पप्पू अहिरवार करीब 15 दिन से नर्सरी की छात्रा के साथ बाथरूम में गंदी हरकत कर रहा था। छात्रा डर गई। उसने एक-दो दिन स्कूल जाने में अनाकानी की। मंगलवार की रात छात्रा की मां ने उससे पूछा तो कहने लगी- मुझे अंकल डराते हैं। पहले बच्ची की मां को लगा कि कोई और बात होगी। उसने जब बच्ची से पूछा कि अंकल-कैसे डराते हैं, तब बच्ची ने जो कुछ भी बताया उसे सुनकर मां की रूह कांप उठी। 

पेरेंट्स को SCHOOL में जाने नहीं देते


आरोपी का बेटा बच्ची की क्लास में ही पढ़ता है। उस बच्चे का नाम लेते हुए छात्रा ने अपनी मां को आपबीती सुनाई। गुस्से से भरे परिजन बुधवार सुबह स्कूल पहुंचे। यहां जब बच्चों को छोड़ने और फिर लेने आए पेरेंट्स को इस घटना की जानकारी लगी तो वे स्कूल प्रबंधन पर सवाल उठाने लगे। एक बच्ची की मां का कहना था कि हम लोगों को अंदर जाने से रोका जाता है और अंदर यह सब चल रहा है। 
  

रोड जाम कर किया हंगामा, पुलिस पहुंची


बच्ची के परिजनों का आरोप था कि स्कूल प्रबंधन मामले को दबाना चाहता है। वह संबंधित व्यक्ति को सामने नहीं ला रहा। काफी देर तक स्कूल के बाहर अभिभावकों ने हंगामा किया। सिविल लाइंस थाना प्रभारी संगीता सिंह मौके पर पहुंची। उन्होंने सीसीटीवी फुटेज निकलवाए। इस दौरान थाना प्रभारी व अभिभावकों के बीच तीखी बहस भी हुई। पेरेंट्स का आरोप था कि आरोपी को स्कूल प्रबंधन ने भगा दिया। हालांकि बाद में पुलिस देवकीनंदन व दो अन्य कर्मचारियों को गाड़ी से थाने लाई। विवाद बढ़ता देख गोपालगंज व कैंट थाना प्रभारी भी मौके पर पहुंचे। 

बच्ची ने फोटो देखकर की आरोपी की पहचान


डरी सहमी बच्ची को थाने न लाकर उसी के घर जाकर महिला पुलिस ने पूछताछ की। सिविल लाइंस थाना प्रभारी संगीता सिंह ने बताया कि थाने लाए गए स्कूल के तीनों कर्मचारियों के फोटो बच्ची को दिखाए गए थे। उसने इनमें से देवकीनंदन को पहचान लिया है। पीड़ित की मां की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ धारा 354 व पाॅस्को एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। अन्य बिंदुओं पर भी जांच चल रही है। स्कूल प्रबंधन की लापरवाही के संबंध में शिक्षा विभाग को लिखा जाएगा। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->